Space for advertisement

परमाणु बम से भी ज्यादा ताकतवर निकली एक छोटी सी गोली, दुनिया में बजाया भारत का डंका

परमाणु बम से भी ज्यादा ताकतवर निकली एक छोटी सी गोली, दुनिया में बजाया भारत का डंका

परमाणु हथियार से लेकर ट्रेड व्यापार तक भारत को आंख तरेरने वाले,एनएसजी की सदस्यता से लेकर सुरक्षा परिषद की स्थायी सदस्यता में अड़ंगा डालने वाले, भारत के आंतरिक मामले पर बेवजह हस्तक्षेप करने वाले देश आज भारत के समक्ष याचक की मुद्रा में खड़े हैं। भारत की ताकत का अंदाजा दुनिया के शक्तिशाली देशों से लेकर विकासशील व छोटे देशों को भी है, लेकिन भारत कभी उनकी जरूरत बन जाएगा इसका अंदाजा शायद ही उन्हें रहा होगा। इसकी वजह कोरोना मरीजों के इलाज में इस्तेमाल किए जाने वाली ऐंटी मलेरिया मेडिसीन हाइड्रॉक्सीक्लोरोक्वीन और पैरासिटामॉल है जिसका भारत सबसे बड़ा उत्पादक है। कोरोना वायरस से लड़ाई में भारत देवदूत के रूप में सामने आया है जो अपनी 1.3 अरब जनसंख्या की जरूरतों को समझता है लेकिन जब पूरी मानवजाति एक भयावह दौर से गुजर रही है तो इसने अपना दिल ही नहीं बल्कि दवाइयों के भंडार भी खोल दिए। अमेरिका जैसी महाशक्ति हो या यूरोपीय देश या सार्क के सहयोगी भारत ने हर देश को अपने यहां उपलब्ध दवाई भेजी है, मकसद सिर्फ इतना ही है कि इस भयावह बवंडर से मानव समुदाय को बचाया जाए।

भारत दूरगामी दृष्टिकोण के साथ बड़े भाई की तरह पूरी दुनिया को एकजुट करने में लगा हुआ है। पीएम नरेंद्र मोदी ने पहले दक्षेस देशों की वीडियो कॉन्फ्रेंस के जरिए बैठक बुलाई तो इसके बाद जी20 देशों को एकजुट करने में जुट गए और उनकी पहल पर बैठक भी हुई। कभी अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने मेडिसीन भेजने में असमर्थता जाहिर करने पर भारत पर आंखें तरेर ली थी, और अब हालत यह है कि भारतीय पीएम दुनिया एकमात्र वर्ल्ड लीडर हैं जिन्हें अमेरिका के राष्ट्रपति का कार्यालय ट्विटर पर फॉलो करता है। मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, सूत्रों ने बताया कि भारत ने इस टैबलेट को देने के लिए 13 देशों की सूची बनाई है। अमेरिका ने 48 लाख टैबलेट मांगी थीं लेकिन अभी उसे 35.82 लाख टैबलेट दी जाएंगी। जर्मनी को भी 50 लाख हाइड्रॉक्सीक्लोरोक्वीन टैबलेट भेजी जाएगी। इस सूची के तहत पड़ोसी देश और सार्क सहयोगी बांग्लादेश को 20 लाख, नेपाल को 10 लाख, भूटान को दो लाख, श्रीलंका को 10 लाख, अफगानिस्तान को पांच लाख और मालदीव को 2 लाख टैबलेट की जाएगी।
loading...

Post a Comment

0 Comments

Adblock Detected

Like this blog? Keep us running by whitelisting this blog in your ad blocker

Thank you

×
Get the latest article updates from this site via email for free!