Space for advertisement

शाकिब ने अमन बनकर हिन्दू लड़की को प्रेमजाल में फंसाया फिर क़त्ल कर दिया।

Ekta Deshval Meerut Case
सोशल मीडिया में इस मामले को लव जेहाद के तौर पर जोड़कर देखा जा रहा है। ज्ञात हो दूसरे समुदाय से ताल्लुक रखने वाले शाकिब ने अपना नाम और धर्म छुपाकर प्रेम विवाह का जाल बुना था और फिर कत्ल कर दिया

परिजनों और सोशल मीडिया में इस मामले को लव जेहाद के तौर पर जोड़कर देखा जा रहा है। ज्ञात हो दूसरे समुदाय से ताल्लुक रखने वाले साकिब ने अपना नाम और धर्म छुपाकर प्रेम विवाह का जाल बुना था और मौका पाकर लड़की का कत्ल भी कर दिया। इस मामले में शाकिब के परिजनों का पूरा हाँथ था।


एक साल पहले मिली थी लाश:
इस मामले की शुरुआत मेरठ के इलाके से एक सिर और हाथ कटी हुई लाश के मिलने से हुई। शव का सर और हाथ काटना केवल शव की पहचान छुपाने के लिए था लेकिन अब इसे न्याय की पराकाष्ठा कहे या सच्चाई की जीत। इस मामले में समय बीतते एक नया मोड़ आ गया। स्थानीय पुलिस ने शव की पहचान करते-करते यह पता लगाया कि यह शव किसी स्थानीय महिला का नहीं बल्कि कहीं बाहर से लाई गई महिला का है। और एक साल की लंबी खोजबीन के बाद या पता चला कि मृतका का नाम एकता देशवाल है और लुधियाना मोतीनगर थाना क्षेत्र पंजाब की रहने वाली है।

इश्क में पड़कर मौत से जा मिली:
इस कहानी की शुरुआत पंजाब से हुई जहाँ 23 वर्षीय एकता देशवाल को अमन नाम के लड़के से मोहब्बत हुई और दोनो ने साथ जीने-मरने की कसमें खाई मौका मिलते ही दोनों ने पंजाब से निकल कर नई दुनिया बनाने की सोची। अमन बने हुए शाकिब ने एकता को घर से जेवरात और नकदी लेकर भागने की साजिश रची और कामयाब भी हुआ पंजाब से भागकर एकता और शाकिब उत्तर प्रदेश के मेरठ पहुँच गए। मेरठ जाकर एकता को एक बड़े सच का पता चला।

एकता को जानकारी हुई कि उसे एक साजिश के तहत फंसाया गया है। दरअसल वह जिसे अमन समझ कर साथ आई है वह तो अमन है ही नहीं बल्कि वह तो शाकिब है।आरोपों के अनुसार एकता पर धर्म परिवर्तन करने के लिए दबाव बनाया गया लेकिन एकता के विरोध करने पर शाकिब को संपत्ति जाती हुई दिखी। शाकिब ने घर मे मौजूद भाभी और अन्य परिजनों की मदद से एकता के सिर और हांथो को काट दिया और शव को ठिकाने लगाने की कोशिश भी की लेकिन देर से ही सही मामले का खुलासा हुआ।

पुलिस कस्टडी से भागने की कोशिश:
शाकिब ने अपना अपराध छुपाने की हर संभव कोशिश की।यही नहीं पुलिस द्वारा पकड़े जाने पर शाकिब ने मौका मिलते है एक पुलिसकर्मी की पिस्टल छीनकर गोलीबारी भी की जिसमे एक गोली आरक्षी सुधीर मलिक को लगी। नतीजन पुलिस ने कार्यवाही करते हुए शाकिब पर गोलियां चलाई जो शाकिब के दोनों पैरों पर लगी। पुलिस ने गिरिफ्तार करके कार्यवाही शुरू कर दी है, प्रेस कांफ्रेंस में भी एसपी ने इस मामले पर पूरी जानकारी मीडिया को उपलब्ध कराई।

मेरठ एसपी ने मीडिया ब्रीफिंग में बताया कि शव की शिनाख्त न होने पर यह बेहद दुष्कर काम था कि मृतक की जानकारी मिले इसके बाद ही हत्या के कारण जानने की प्रक्रिया शुरू हो सके। इसके लिए स्थानीय पुलिस ने तमाम कोशिशे की जिसमे 23 वर्ष उम्र वर्ग की लड़कियों की गुमशुदगी की जानकारी जुटाई लेकिन इसमें कोई सफलता नहीं मिली। सफलता न मिलने पर पुलिस प्रशासन ने उस क्षेत्र के जो लोग बाहर काम करते है उनका डेटा इकट्ठा किया और उस डेटा के आधार पर बाहर काम करने वाले लोगों के थानों में गुमशुदगी की घटनाएं खोजी और पुलिस को पंजाब के लुधियाना में सफलता मिली। जहां के मोतीनगर थाने में एकता देशवाल नाम की लड़की की गायब होने की खबर थी। परिजनों के द्वारा पहचान करने पर मामले का खुलासा हुआ।

लोगों ने कहा लव जेहाद:

एक ओर जहाँ पुलिस इसे साजिशन बहला फुसला कर हत्या करने की बात कह रहा है वहीँ लोगों द्वारा इसे लव जेहाद करार दिया गया। लोगों ने कहा कि यह लव जेहाद का ही एक उदाहरण है मामले को लेकर उत्तर प्रदेश और पंजाब में आक्रोश नजर आ रहा है।
loading...

Post a Comment

0 Comments

Adblock Detected

Like this blog? Keep us running by whitelisting this blog in your ad blocker

Thank you

×
Get the latest article updates from this site via email for free!