Space for advertisement

21 जुलाई 2020 का राशिफल: कर्क राशि वालों का रुका हुआ कार्य पूर्ण होगा, बिजनेस और आर्थिक मामलों में प्रगति होगी

21 जुलाई 2020 का राशिफल: कर्क राशि वालों का रुका हुआ कार्य पूर्ण होगा, बिजनेस और आर्थिक मामलों में प्रगति होगी

सामाजिक और राजनीतिक मुद्दों पर बेबाकी से राय रखने वाले नसीरुद्दीन शाह ने बीते दिनों ही अपना 70वां बर्थडे सेलिब्रेट किया। उनका जन्म 20 जुलाई, 1949 को यूपी के बाराबंकी में हुआ था। उन्होंने 1975 में आई फिल्म ‘निशांत’ से अपने करियर की शुरुआत की थी।

44 साल के करियर में अब तक उन्होंने 100 से ज्यादा फिल्मों में काम किया है। अगर उनकी पर्सनल लाइफ की बात की जाए तो इस बात को बहुत कम लोग ही जानते होंगे कि उन्होंने दो शादियां की थी और वो शाहिद कपूर के मौसा हैं।

नसीरुद्दीन शाह की पहली शादी परवीन मुराद (मनारा सिकरी) से हुई थी। उस दौरान नसीर 19 तो परवीन 35 साल की थीं। शादी के एक साल बाद इस जोड़ी की बेटी हीबा का जन्म हुआ। हालांकि, इसके बाद जल्द ही परवीन और नसीर अलग हो गए और हीबा मां के साथ ईरान चली गई थीं।



परवीन के अलग होने के कुछ साल बाद नसीर और एक्ट्रेस रत्ना पाठक एक-दूसरे के करीब आए। 1957 में जन्मीं रत्ना नसीरुद्दीन से 8 साल छोटी हैं। 1982 में रत्ना की मां दीना पाठक के घर पर जोड़ी ने करीबियों की मौजूदगी में रजिस्ट्रर्ड मैरिज की थी।



बता दें, रत्ना एक्ट्रेस सुप्रिया पाठक की बड़ी बहन हैं और सुप्रिया शाहिद कपूर की सौतेली मम्मी हैं। इस रिश्ते से वो शाहिद की मौसी और नसीर उनके मौसा लगते हैं।



नसीरुद्दीन शाह और रत्ना पाठक भले ही अलग-अलग धर्म से ताल्लुक रखते हैं, लेकिन दोनों के बीच प्यार आज भी बरकरार है। ये कपल 37 सालों से साथ है। रत्ना ने नसीर से शादी करने के लिए मुस्लिम धर्म अपनाया था।



रत्ना से शादी के कुछ वक्त बाद नसीर की पहली पत्नी परवीन की डेथ हो गई थी, जिसके बाद बेटी हीबा वापस इंडिया में इनके साथ रहने लगीं। हीबा की परवरिश नसीर-रत्ना के दोनों बेटों इमाद और विवान के साथ हुई है।



नसीरुद्दीन ने अपने करियर में जिन प्रमुख फिल्मों में काम किया, उनमें ‘हम पांच’ (1980), ‘उमराव जान’ (1981), ‘बाजार’ (1981), ‘कर्मा’ (1986), ‘हीरो हीरालाल’ (1988), ‘त्रिदेव’ (1989), ‘विश्वात्मा’ (1991), ‘मोहरा’ (1994), ‘सरफरोश’ (1999), ‘इकबाल’ (2005), ‘अ वेडनेसडे’ (2008), ‘इश्किया’ (2010), ‘डेढ़ इश्किया’ (2014), ‘बेगम जान’ (2017) और ‘द ताशकंद फाइल्स’ (2019) प्रमुख हैं।
loading...

Post a Comment

0 Comments

Adblock Detected

Like this blog? Keep us running by whitelisting this blog in your ad blocker

Thank you

×
Get the latest article updates from this site via email for free!