Space for advertisement

अखबार बेच कर खड़ी कर ली 10 हज़ार करोड़ की कंपनी, आइए जाने कैसे

loading...

आज जिस शख्स की कहानी आपके सामने पेश कर रहे, उन्होंने इस फिल्म को अपने जीवन में ढालते हुए शून्य से करोड़पति बनने का सफ़र तय किया है। झारखंड के धनबाद में एक गरीब घर में पैदा लिए अंबरीश मित्रा का बचपन अभावों में बीता। पिता उन्हें अच्छी शिक्षा देकर एक इंजीनियर बनाना चाहते थे। किन्तु अंबरीश को पढाई में बिल्कुल भी मन नहीं लगता था। 

किसी तरह बार-बार फैल होने के वावजूद उन्होंने स्कूली शिक्षा पूरी की। अंबरीश को बचपन से ही कंप्यूटर में बड़ी दिलचस्पी थी। पिता द्वारा पढाई को लेकर बार-बार दवाव मिलने के बाद उन्होंने घर छोड़ने का फैसला कर लिया। महज़ 15 साल की उम्र में घर से भागकर वो दिल्ली आ गए। 

काफी ढूंढने के बाद भी रहने का ठिकाना न मिलने पर, अंबरीश ने स्लम में ही रहने का इरादा बना लिया और अखबार बेचकर ख़ुद का पेट भरने लगे। एक दिन अखबार बेचने के दौरान अंबरीश ने एक ऐड देखा, जिसमे बिजनेस आइडिया मांगा गया था। साथ में अच्छे आईडिया देने वाले को 5 लाख रुपए का नकद इनाम था। अंबरीश ने महिलाओं को मुफ्त इन्टरनेट देने के अपने आईडिया को पेश कर इनामी राशी अपने नाम किया। इस पैसे से उन्होंने वुमेन इन्फोलाइन नाम की एक छोटी कंपनी शुरू की, लेकिन उन्हें नुकसान होने शुरू हो गए। फिर कुछ नया करने की चाह में उन्होंने साल 2000 में लंदन का रुख किया। लंदन में ख़ुद के खर्चे उठाने के लिए उन्होंने एक बिमा कंपनी ज्वाइन की। 

इसी दौरान अंबरीश को शराब की लत लग गयी और वो बराबर पब जाने शुरू कर दिए। एक दिन लंदन के एक पब में शराब पीते-पीते आखिरी पैग के दौरान उन्होंने अपने दोस्त उमर तैयब के सामने 15 डॉलर रखे और मजाक में कहा, कितना अच्छा होता कि नोट से महारानी एलिजाबेथ बाहर आ जाती। मजाक-मजाक में उमर ने भी अंबरीश की फोटो ली और उसे महारानी की फोटो पर सुपरइंपोज कर दिया। 

इसी मजाक से उन्हें एक ऐसे ऐप बनाने का आइडिया सूझा। फिर साल 2011 में उन्होंने ब्लिपर नाम की एक कंपनी बनाई जो मोबाइल फोन के लिए ‘ऑगमेंटेड रियलिटी’ ऐप बनाती है। इनके इस आइडिया ने सॉफ्टवेयर की दुनिया में धमाल मचाते हुए 170 देशों में अपनी पहचान बनाई। इतना ही नहीं इसने जगुआर, यूनिलीवर, नेस्ले जैसी दिग्गज कंपनियों के साथ टाइ-अप भी किया है। आज कंपनी का सलाना टर्नओवर करोड़ो डॉलर में है। साल 2016 में कंपनी का वैल्यूएशन करीब 1.5 बिलियन डॉलर अर्थात 10 हजार करोड़ रुपए के पार था।
loading...

Post a Comment

0 Comments

Adblock Detected

Like this blog? Keep us running by whitelisting this blog in your ad blocker

Thank you

×
Get the latest article updates from this site via email for free!