Space for advertisement

GOOGLE पर ये कभी न करें सर्च, वरना 7 साल तक की होगी जेल

loading...



हम प्रतिदिन अपनी आवश्यकताओं की पूर्ति के लिए इंटरनेट का प्रयोग करते हैं लेकिन, क्या आप सर्च करते वक्त थोड़ा सोचते हैं कि हम क्या सर्च करने वाले हैं। अगर नहीं तो आज से सोचना शुरु कर दीजिए क्योंकि हम आपको कुछ ऐसी ही बात बताने वाले हैं जिसके बाद गूगल पर सर्च करने से आप दस बार सोचोगे।

जी हां कुछ चीजें ऐसी भी हैं जो हमें गूगल पर सर्च नहीं करनी चाहिए, इसीलिए नहीं कि वो खराब होगी बल्कि इसीलिए क्योंकि आपको ये पांच चीजें सर्च करने पर जेल की हवा खानी पड़ सकती है। तो चलिए बताते हैं आपको…


साहित्य या वीडियो

अगर आप गूगल पर बच्चों संबंधी कोई गलत साहित्य या वीडियो सर्च करते है तो आप मुसीबत में फंस सकते हैं, यहां तक की आपको जेल की हवा खानी पड़ सकती है। क्योंकि ऐसा करना भारतीय दंड संहिता और अंतरराष्ट्रीय नियमों के खिलाफ है। इसके साथ ही अगर आप कोई भी गलत वीडियो या साहित्य के बारे में खुलेआम चर्चा करते हैं या उनको शेयर करते हैं तो आप पर मुकदमा हो सकता है।


बम बनाने की तकनीक

अगर आप बम बनाने की तकनीक सर्च करते हैं तो भी आपको कानूनी प्रक्रिया से गुजरना पड़ेगा।


पहचान

गूगल पर सर्च करते वक्त भूलकर भी कभी अपनी पहचान जानने के लिए सर्च न करें. इससे आपको जेल तो नहीं होगी मगर आप मुसीबत में पड़ सकते हैं क्योंकि, गूगल के पास आपकी सर्च हिस्ट्री का पूरा डेटाबेस होता है और बार-बार सर्च करने से इसके लीक होने का खतरा है. हैकर्स इसी इंतजार में रहते हैं कि कौन सी चीज उन्हें आसानी से हैक करने को मिल जाए।

ई-मेल


पर्सनल ई-मेल लॉगइन को गूगल पर सर्च करने से भी परहेज करें. ऐसा न करने पर आपका अकाउंट हैक और पासवर्ड लीक हो सकता है. एक स्टडी के मुताबिक, दुनियाभर में सबसे ज्यादा हैकिंग के मामले ई-मेल हैक होने के हैं. इसकी कई शिकायतें सायबर सेल में भी दर्ज हैं.


विज्ञापन

गूगल पर कभी भी असुरक्षा से जुड़ी कोई भी जानकारी सर्च नहीं करनी चाहिए. क्योंकि इससे आपको उससे संबंधित विज्ञापन आने लगते हैं। जिससे आप यह जान सकते हैं कि कोई आपको इंटरनेट पर फॉलो कर रहा है. अगर आप चाहते हैं कि असुरक्षा से जुड़े विज्ञापन आपको परेशान न करें तो आप इस सर्च करने से बचें.

इन सबके अलावा आप कोई संदिग्ध चीज सर्च करने से बचें. क्योंकि सायबर सेल की उन लोगों पर नजर रहती है जो संदिग्ध चीज सर्च करते हैं। इसीलिए कुछ भी सर्च करने से पहले सोच लें। आमतौर पर ऐसी सर्च कीवर्ड को गूगल जैसे सर्च इंजन सेंसिटिव कैटेगरी में रखते हैं यानी इन शब्दों को सर्च करने वाले व्यक्ति की सूचना खुफिया एजेंसियों से तुरंत साझा कर दी जाती है जिसके बाद कार्रवाई शुरु हो जाती है।


loading...

Post a Comment

0 Comments

Adblock Detected

Like this blog? Keep us running by whitelisting this blog in your ad blocker

Thank you

×
Get the latest article updates from this site via email for free!