Space for advertisement

पुलिस के धक्के से गिरे राहुल, बिहार तक पहुंची धमक; राजद और कांग्रेस बोले-राहुल-प्रियंका की गिरफ्तारी गलत



उत्तर प्रदेश के हाथरस में सामूहिक दुष्कर्म पीड़िता की मृत्यु और पुलिस द्वारा जबरन अंतिम संस्कार करने के विराेध में दूसरे दिन गुरुवार काे भी पूरे देश में धरना-प्रदर्शन हुए। पटना, दिल्ली-मुंबई सहित कई शहराें में प्रदर्शन कर लाेगाें ने पीड़िता के परिवार काे इंसाफ दिलाने की मांग की।

इस बीच, राहुल गांधी और प्रियंका गांधी वाड्रा पीड़ित परिवार से मिलने जा रहे थे। पुलिस ने उन्हें ग्रेटर नाेएडा के पास राेक दिया। इसके बाद राहुल और प्रियंका पैदल ही चल पड़े। इस दौरान पुलिस से धक्का-मुक्की हुई। पुलिस ने लाठीचार्ज किया, जिसमें कुछ कार्यकर्ताओं को चोटें आईं। राहुल-प्रियंका को पुलिस ने हिरासत में लेने के बाद छाेड़ दिया। राहुल ने कहा कि पुलिस ने उन्हें धकेल कर गिराया। डंडे बरसाए। पुलिस ने राहुल पर महामारी एक्ट के तहत केस दर्ज किया है। दूसरी ओर, हाथरस में हुई इस बर्बरता की तपिश बिहार विधानसभा चुनावों में पड़नी तय है। इस मुद्दे पर महागठबंधन में सीटों के मुद्दे पर अलग-अलग राग अलाप रहे सभी दलों के सुर फिलहाल एक हो गए हैं। संंभव है कि चार दिन से दलित समीकरण को लेकर बनाए जा रहे तमाम गठबंधन का केंद्र भी शिफ्ट हो सकता है।

इधर, इस घटना से भाजपा की बेचैनी कहीं न कहीं जरूर बढ़ी है। क्योंकि बिहार में दलितों की आबादी करीब 16 फीसदी है। भाजपा की चिंता यह है कि इस मामले ने तूल पकड़ा तो दलितों की नाराजगी भारी पड़ सकती है। उधर, उत्तर प्रदेश के एडीजी प्रशांत कुमार ने कहा- ‘लड़की की माैत गहरी चाेट के कारण हुई है। फाॅरेंसिक रिपाेर्ट में उसके साथ दुष्कर्म की पुष्टि ही नहीं हुई है।’

महागठबंधन के सभी दलों के सुर एक हुए: राजद और कांग्रेस बोले-राहुल-प्रियंका की गिरफ्तारी गलत...यूपी में अपराध चरम पर

सत्ता के दुरुपयोग का विरोध करना विपक्षी दलों का कर्तव्य है। लोगों की आवाज को दबाया नहीं जा सकता है। हम राहुल गांधी और प्रियंका गांधी की गिरफ्तारी की निंदा करते हैं। -तेजस्वी, नेता प्रतिपक्ष

यूपी में अपराध चरम पर है। योगी सरकार ने विपक्ष की आवाज रोकने को जितनी सख्ती की, उतनी तत्परता अगर कानून व्यवस्था को बहाल करने में करते तो यूपी की बेटियां सुरक्षित होती। -बिहार प्रदेश कांग्रेस

बीजेपी का सर्वनाश तय हो गया। बलात्कारी के सामने समर्पण और विपक्ष पर प्रहार! राहुल गांधी की गिरफ्तारी एवं उन पर लाठीचार्ज मोदी-ढोंगी के ताबूत में आखिरी कील साबित होगी। -पप्पू यादव, अध्यक्ष जन अधिकार पार्टी

सत्ता में बैठे लोग बेशर्म हैं। जात-धर्म देख आरोपी को बचाना बेहद शर्मनाक है। -कन्हैया कुमार, भाकपा नेता

इस घटना से देश में आक्रोश है। शिथिलता नहीं होनी चाहिए। दोषियों पर कार्रवाई करें। -चिराग पासवान, फोन पर सीएम योगी से बात की

loading...

Post a Comment

0 Comments

Adblock Detected

Like this blog? Keep us running by whitelisting this blog in your ad blocker

Thank you

×
Get the latest article updates from this site via email for free!