Space for advertisement

72 घंटे में दूसरा हमला, चर्च के गेट पर पादरी को गोली मारी, हमलावर फरार

loading...





72 घंटे में दूसरा हमला, चर्च के गेट पर पादरी को गोली मारी, हमलावर फरार - फ्रांस (France) में कट्टरपंथियों के हमले (Extremist Attack) लगातार होते रहे हैं. फ्रांस के ल्योन शहर (Lyon City) में चर्च के पास के एक पादरी को गोली (Pastor Shot) मारकर हमलावर फरार हो गया. पादरी की उम्र 52 साल के करीब है. फ्रांस में यह 72 घंटे के अंदर दूसरा हमला है. डॉक्टरों के अनुसार, ग्रीक परंपरावादी चर्च के पादरी को शनिवार को बहुत नजदीक से पेट में गोली मारी गई है. पादरी को अस्पताल में भर्ती कराया गया है, जहां वहां जिंदगी और मौत से संघर्ष कर रहा है. हमलावर पुलिस को पकड़ने के लिए सर्च ऑपरेशन चला रही है. यह जानकारी फ्रांस पुलिस ने दी.

हमलावरों ने काला लंबा कोट पहना हुआ था

पुलिस के अनुसार हमलावरों ने काला लंबा कोट पहना हुआ था और शॉटगन को अपनी कोट के अंदर छुपा कर रखा था. ल्योन में चर्च के आसपास के निवासियों ने बताया कि पादरी को दो गोली मारी गई. अभियोजकों का कहना है कि उन्होंने देखा कि एक आदमी अचानक से भागने लगा और फिर उन्होंने एक पादरी को जख्मी हालत में चर्च के दरवाजे पर खून से लथपथ देखा. हमलावरों का इस हमले के पीछे क्या उद्देश्य था, यह पता नहीं चल पाया है.


फ्रांस के प्रधानमंत्री ने इस गंभीर घटना बताया

फ्रांस के प्रधानमंत्री ​जीन कास्टेक्स ने रिपोर्टरों को बतायाकि यह एक 'गंभीर घटना' है. हालांकि हमारे पास इस घटना के सटीक तथ्य नहीं मौजूद हैं. उन्होंने यह भी कहा कि 'क्राइसिस सेंटर' को सक्रिय किया जाएगा.



नीस में चर्च के अंदर हुआ था आतंकी हमला

पिछले दिनों एक सिरफिरे द्वारा सैमुअल पैटी नाम के इतिहास शिक्षक का सिर धड़ से अलग किए जाने की दुर्घटना हुई. इसके दो हफ्ते के अंदर यहां नीस शहर के नोत्रे दाम बेसिलिका चर्च में बीते गुरूवार को एक और आतंकी हमला (Terrosist Attack in Church) हुआ. दक्षिण फ्रांस के नीस शहर में एक ट्यूनीशियाई व्यक्ति 'अल्लाहु अकबर' चिल्लाते हुए आया और चर्च में कुछ लोगों पर चाकू से हमला कर दिया.

इस घटना में तीन लोगों की मौत हो गई और कई अन्य जख्मी हो गए. यह हमला चर्च में किया गया. चर्च के अंदर मरने वाले लोगों में एक 60 वर्षीय महिला है जिसका सर लगभग उसी तरह काट कर अलग कर दिया गया जैसे अध्यापक सैमुअल पैटी का कर दिया गया था. एक अन्य 55 वर्षीय व्यक्ति का गला काट दिया गया. मृतकों में से पुरुष चर्च के रखरखाव का काम करता था. मरने वालों में 44 वर्ष की एक अन्य महिला भी थी जो कई बार छुरा घोंपे जाने के बाद पास के एक कैफे में भागने में सफल रही लेकिन बाद में उसकी मृत्यु हो गई. एक पुरुष संदिग्ध को गोली मारकर हिरासत में ले लिया गया.


चर्च वाली घटना के बाद आतंकवाद विरोधी अभियोजकों ने हमले की जांच शुरू कर दी है और फ्रांस ने अपने राष्ट्रीय सुरक्षा अलर्ट को उच्चतम स्तर तक बढ़ा दिया है. फ्रेंच एंटी-टेरर प्रॉसीक्यूटर जौं फ्रेंकुआ रिकार्ड ने कहा कि हमलावर को पुलिस ने गंभीर रूप से घायल कर दिया था. रिकार्ड ने कहा कि संदिग्ध 21 वर्षीय एक ट्यूनीशियाई नागरिक था जो इस महीने की शुरुआत में फ्रांस आया था. उसके पास इतालवी रेड क्रॉस द्वारा जारी एक दस्तावेज था. पुलिस सूत्रों ने हमलावर का नाम ब्राहिम आउतसोई बताया है. उन्होंने बताया कि उसने सितंबर में ट्यूनीशिया से इटालियाई द्वीप लैम्पेडुसा तक नाव से यात्रा की थी.
loading...

Post a Comment

0 Comments

Adblock Detected

Like this blog? Keep us running by whitelisting this blog in your ad blocker

Thank you

×
Get the latest article updates from this site via email for free!