Space for advertisement

रेणु को देखते ही प्यार में पागल हो गए BJP नेता शाहनवाज़ हुसैन, हिन्दू धर्म से हुआ विवाह



जाति-धर्म की दीवारें तोड़कर इन नेताओं ने की लव मैरिज, जानिए कैसे आगे बढ़ी इनकी Love Story : बीजेपी के मशहूर नेता शाहनवाज हुसैन काफी खुशमिजाज इंसान हैं। उन्हें अपने प्यार को पाने के लिए काफी मशक्कत करनी पड़। क्योंकि वे एक हिंदू लड़की से मोहब्बत जो कर बैठे थे। शाहनवाज की लव स्टोरी तब शुरु हुई जब वे दिल्ली की DTC बसों में कॉलेज जाते थे। इसी सफर में उन्हें एक ऐसी लड़की नजर आई जिसके बारे में वे सोचने पर मजबूर हो गए। सफर में वे अक्सर उस लड़की से मिलते थे लिहाजा कुछ दिनों बाद वे उसका पीछा करने लगे और धीरे-धीरे मुलाकातें हुईं, बातें हुईं। बताया जाता है कि एक दिन बस में शाहनवाज को सीट मिल गई लेकिन उस दिल्ली की लड़की को नहीं मिली तो उन्होंने अपनी सीट उसे दे दी।

शाहनवाज ने रेनू के परिवार वालों से भी अच्छा तालमेल कर लिया था। लेकिन ये बात किसी को कहां पता थी कि शाहनवाज रेनू को बस की यात्रा में अपना दिल दे बैठे थे।

एक दिन जब शाहनवाज ने रेनू को अपने दिल का हाल-ए-दिल बताया तो वो गुस्सा हुई और हिंदू-मुस्लिम का हवाला देकर मना कर दिया। लेकिन शाहनवाज ने हार नहीं मानी वे लगातार 9 साल तक रेनू की हां का इंतजार करते रहे। 1994 में दोनों ने आखिरकार शादी कर ली। दोनों की शादी कराने में उमा भारती ने मुख्य भूमिका निभाई। उन्होंने ही दोनों के परिवार को कनविंस किया था। दोनों के 2 बेटे हैं।

बीजेपी के सीनियर नेता मुख्तार अब्बास नकवी की कहानी भी इसी तरह है। मुख्तार और सीमा भी अलग-अलग धर्म से ताल्लुक रखते हैं लेकिन प्यार ने इन दोनों के बीच आई धर्म की दीवार को तोड़ दिया। सीमा को मुख्तार पहली नजर में ही पसंद आ गए थे। सीमा बेहद शर्मीली थीं। कॉलेज के दिनों में लड़कों से दूर रहती थीं, लेकिन नकवी अपवाद थे। दोनों की मुलाकात इलाहाबाद यूनिवर्सिटी में हुई। सीमा को भले ही नकवी पसंद थे लेकिन उनके परिवार को नहीं। सीमा के परिवार वाले हमेशा ही नकवी से मिलने को मना करते थे लेकिन फिर भी सीमा किसी न किसी तरह से बहाने से उनसे मिलती थीं। साल 1983 में 3 जून के दिन दोनों शादी के पवित्र बंधन में बंध गए। दोनों की शादी हिंदू व मुस्लिम, दोनों ही रीति-रिवाजों से हुई। दोनों ईद और दिवाली अपने-अपने रिवाज से सेलिब्रेट करते हैं। इस जोड़े का एक बेटा है।

बिहार के डिप्टी सीएम सुशील मोदी के बारे में तो सभी जानते हैं। वे बिहार बीजेपी का एक जाना-पहचाना चेहरा हैं। उन्होंने ईसाई धर्म की जेसिस जॉर्ज से शादी की है। दोनों की मुलाकात ट्रेन में हुई थी। इस दौरान सुशील मोदी पटना यूनिवर्सिटी में एबीवीपी के महासचिव थे। वह किसी काम से ट्रेन से यात्रा कर रहे थे। यहीं से दोनों के बीच बातें हुईं। दोनों की शादी को लेकर काफी बाधाएं आईं। लेकिन बाद में काफी दिनों बाद घर वाले मान गए। सुशील मोदी की पत्नी जेसिस एक कॉलेज में प्रोफेसर हैं। दोनों के दो बेटे उत्कर्ष और अक्षय अमृकतांक्षु हैं। जो मीडिया सुर्खियों से दूर ही रहते हैं। उत्कर्ष इंजीनियरिंग और अक्षय लॉ का कोर्स कर रहे हैं।

जम्मू कश्मीर के पूर्व सीएम उमर अब्दुल्ला की लव स्टोरी भी काफी चर्चाओं में रही। उनकी लवस्टोरी दिल्ली की ओबेराय होटल से शुरु हुई थी। क्योंकि जिस वक्त वो पायल से मिले थे तब वे भी वहीं काम किया करती थी। इसी बीच दोनों की एक दूसरे से नजदीकियां बढ़ीं। 1994 में दोनों ने धार्मिक बंधनों को तोड़कर शादी कर ली थी। इस कपल के 2 बेटे, जाहिर और जमीर हैं जो दिल्ली में रहते हैं। पायल दिल्ली में अपना ट्रांसपोर्ट का बिजनेस चलाती हैं। हालांकि 17 साल बाद दोनों का तलाक हो गया। कहा जाता है कि दोनों की शादी को लेकर कश्मीरी पंडित नाराज थे, जिस वजह से पायल वहां बहुत कम रह पाती थीं। सिख परिवार से ताल्लुख रखने वाली पायल के पिता मेजर जनरल रामनाथ सेना से रिटायर्ड हैं।

कांग्रेस के नेता मनीष तिवारी भी इस लिस्ट में शामिल हैं। उन्होंने ने नाजनीन सफा से शादी की है। नाजनीन सफा पारसी धर्म से आती हैं। टाइम्स ऑफ इंडिया की रिपोर्ट के मुताबिक 1989 में जब मनीष NSUI के प्रेसीडेंट थे तब नाजनीन मुंबई में वीमेन विंग की प्रेसीडेंट थी। इसके बाद नाजनीन ने मुंबई यूनिवर्सिटी से इकॉनोमिक्स में मास्टर किया और बाद में एयर इंडिया के साथ काम करने लगीं। इन्ही दिनों मनीष लॉ की पढ़ाई कर रहे थे। दोनों की कई मुलाकातें मुंबई और दिल्ली में हुई। 1996 में दोनों ने शादी की। दोनों की एक बेटी है इनेका तिवारी।
आपको निचे दी गयी ये खबरें भी बहुत ही पसंद आएँगी।
loading...

Post a Comment

0 Comments

Adblock Detected

Like this blog? Keep us running by whitelisting this blog in your ad blocker

Thank you

×
Get the latest article updates from this site via email for free!