Space for advertisement

गुस्से ने बर्बाद करके रख दिया इस इस क्रिकेटर का करियर, एक समय सचिन से होती थी तुलना


क्रिकेट का खेल अपने आप में उतार - चढाव वाला खेल माना जाता है. क्रिकेट के खेल में हर खिलाड़ी को अपनी फिटनेस साबित करनी होती है. और जो खिलाड़ी फिटनेस में खरा नही उतरता है, उसे टीम में नहीं रखा जाता है. क्रिकेट ही नही खेल चाहे कोई सा भी क्यों ना हो फिटनेस बहुत जरूरी है. आज की इस खबर में हम आपको एक ऐसे खिलाड़ी के बारे में बता रहे है जिस खिलाड़ी की एक समय में सचिन से तुलना होती थी, लेकिन सिर्फ अपने गुस्से के कारण ही इस खिलाड़ी को अपने करियर से हाथ धोना पड़ा.

हम जिस खिलाड़ी की बात कर रहे हैं, वह कोई और नहीं बल्कि अंबाती रायडू हैं. बता दें कि वर्ल्ड कप के दौरान भी रायडू अपने गुस्से की वजह से चर्चा में रहे थे.

इसके बाद, निराशा में सेवानिवृत्त होने और फिर मैदान में लौटने से उनकी छवि को भी नुकसान पहुंचा.

गौरतलब है कि कभी अंबाती रायडू की तुलना महान बल्लेबाज सचिन तेंदुलकर से की जाती थी. लेकिन विवाद उनकी क्षमता पर हावी रहे. 2002 में इंग्लैंड दौरे पर गई अंडर -19 टीम की ओर से रायडू ने अपनी धाक जमाई थी.

रायडू ने श्रृंखला के एक मैच में 177 रन बनाए थे, जिससे वह सभी की नजरों में आ गए थे. टीम इंडिया में उनकी जगह पक्की मानी जाती थी, लेकिन यह खिलाड़ी अपनी क्षमता और गुस्से के बीच तालमेल रखने में नाकाम रहे, जिसके कारण एक होनहार खिलाड़ी की प्रतिभा पूरी दुनिया को ठीक से देखने को नहीं मिली.

अंबाती रायडू प्रतिभा के धनी थे

आंध्र प्रदेश के गुंटूर में जन्मे अंबाती रायडू का विवादों से गहरा नाता है. ऐसा माना जाता है कि अंबाती रायडू नाराज थे, जिसने उनकी प्रतिभा को खत्म कर दिया, साथ ही साथ उनके करियर को भी नष्ट कर दिया.

आपकी जानकारी के लिए बता दे कि अम्बाती रायडू का 50 मैचों का औसत सभी भारतीय खिलाड़ियों से ज्यादा है. और इस मामले में बात करे अगर भारतीय टीम के कप्तान और क्रिकेट के महान बल्लेबाज सचिन तेंदुलकर भी बहुत पीछे है.

50 एकदिवसीय मैच खेलने के बाद अंबाती रायडू का औसत 47.06 है, जबकि विराट कोहली ने 50 पारियों के बाद 44.63 की औसत से रन बनाए.

इसके अलावा, महेंद्र सिंह धोनी अपने डेब्यू के 50 मैच खेलने के बाद 43.51 की औसत से रन बनाने में सफल रहे.

वहीं, शिखर धवन का औसत 50 पारियों के बाद 43.60 रहा. इनके अलावा, भारत के पूर्व कप्तान, कप्तान सौरव गांगुली भी 50 एकदिवसीय मैचों के बाद 40.26 के औसत से स्कोर करने में सक्षम थे.

ये गलतियाँ कर दी अम्बाती रायडू ने

बुजुर्ग से मारपीट

अम्बाती रायडू हमेशा से ही गुस्सेले स्वाभाव के है और यही इनके उपर भारी पड़ता है. ऐसा ही वाकया 31 अगस्त 2017 को हुआ था, इस दिन अम्बाती रायडू एक बुजुर्ग से उलझ गये और इतना ही नहीं मारपीट पर भी उतर आये.

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, सुबह टहलने गए कुछ बुजुर्ग तेज रफ़्औतार से आ रही अम्बाती रायडू की कार से टकरा गये. जब वहां मौजूद बुजुर्गों ने इसका विरोध किया तो रायडू कार से बाहर निकले और पहले तो उनसे बहस की.

इस घटना के बाद, रायडू के खिलाफ एक पुलिस मामला दर्ज किया गया था और इस मामले में बीसीसीआई के साथ एक शिकायत भी की गई थी.

भज्जी से बहस

आईपीएल 2016 के एक मैच में अंबाती रायडू और हरभजन सिंह के बीच तीखी नोकझोंक देखने को मिली. 2016 सीजन में मुंबई इंडियंस और पुणे सुपरजायंट्स की टीमें आमने-सामने थीं.

मामला पुणे की पारी के 11वें ओवर का था जब हरभजन सिंह गेंदबाजी कर रहे थे और पुणे के सौरभ तिवारी बल्लेबाजी कर रहे थे.

उन्होंने भज्जी की गेंद पर शॉट लगाया, लेकिन फील्डर अंबाती रायडू गेंद रोकने में असफल रहे और गेंद बाउंड्री के पार चली गई.

हरभजन इस दौरान रायडू के प्रयास से संतुष्ट नजर नहीं आए और उन्होंने रायुडू को अपशब्द कह दिए. उधर, अंबाती रायुडू का भी पारा सातवें आसामान पर चढ़ गया और फिर मैदान पर तू-तू मैं-मैं हो गई। हालांकि अंत में भज्जी ठंडे पड़े और उन्हें समझा-बुझाकर वापस मैदान संभालने के लिए भेजा.

हर्षल पटेल से भी भीड़ चुके है

रायडू की एक बदमाशी भी आरसीबी के पूर्व खिलाड़ी हर्षल पटेल के साथ जुड़ी हुई है. दोनों खिलाड़ियों के बीच मैदान पर, सुनी को सुनने के बाद, रायडू पर मैच फीस का 100 प्रतिशत और हर्ष पटेल पर 25 प्रतिशत जुर्माना लगाया गया.

वर्ल्ड कप 2019 से नज़रअंदाज

विश्व कप 2019 से पहले, ऑलराउंडर विजय शंकर को अंबाती रायडू के स्थान पर 3 आयामी खिलाड़ी के रूप में चुना गया था, जिन्हें भारतीय टीम में चार मजबूत दावेदार माना जाता है.

इसके बाद, अंबाती रायडू ने गुस्से में ट्वीट किया कि वह 3 डी चश्मा खरीदकर विश्व कप का आनंद लेंगे। हालांकि, तब तक अंबाती रायडू को बताया गया था कि वह एक आरक्षित खिलाड़ी था.

इसके बाद, जब विश्व कप 2019 के दौरान शिखर धवन चोटिल हुए थे, तब ऋषभ पंत को बुलाया गया था और फिर विजय शंकर के घायल होने के बाद मयंक अग्रवाल को इंग्लैंड भेजा गया था.

ऐसे में अंबाती रायडू का गुस्सा भड़क गया और उन्होंने अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट से संन्यास की घोषणा कर दी. बाद में निर्णय भी वापस ले लिया गया, लेकिन तब तक शायद बहुत देर हो चुकी थी.

रायडू का वनडे रिकॉर्ड

रायडू ने अब तक 55 वनडे मैच खेले है और कुल 1694 रन बनाये है. और उनका औसत 47.05 और सबसे ज्यादा रब नाबाद 124 रन बनाये है. इनमे 3 शतक है और 10 अर्धशतक है.

उनका वनडे में स्ट्राइक रेट 79.04 का रहा. टी-20 में उन्होंने भारत के लिए पांच टी-20 मैच भी खेले. जिसमें 10.50 की औसत से 42 रन बनाए.
आपको निचे दी गयी ये खबरें भी बहुत ही पसंद आएँगी।
loading...

Post a Comment

0 Comments

Adblock Detected

Like this blog? Keep us running by whitelisting this blog in your ad blocker

Thank you

×
Get the latest article updates from this site via email for free!