Space for advertisement

सरकार को एमएसपी पर गेहूं बेचने के लिए ऐसे करें रजिस्ट्रेशन, पड़ेगी इन डॉक्युमेंट की जरुरत, ये है पूरा प्रोसेस

उत्तर प्रदेश में एक अप्रैल से गेहूं (wheat procurement ) की खरीद शुरू होगी. इसकी तैयारियां चल रही हैं. सरकार को फसल बेचने के लिए किसानों को खाद्य एवं रसद विभाग के पोर्टल पर ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन करना होगा. इसके ई-क्रय प्रणाली पर रजिस्ट्रेशन होगा. इसके बाद ही किसान गेहूं को न्यूनतम समर्थन मूल्य (MSP) पर सरकारी एजेंसियों को बेच पाएंगे. आईए समझते हैं कि ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन कैसे होगा.

विभाग की वेबसाइट (https://eproc.up.gov.in/) पर रजिस्ट्रेशन के 6 स्टेप हैं. पहले स्टेप में ही सबसे अधिक जानकारियां देनी होंगी. जिसमें किसान का नाम, उसकी कैटेगरी, आधार (Aadhaar) सीडिंग की स्थिति, मोबाइल नंबर, जमीन और बैंक अकाउंट का ब्यौरा और पता आदि लिखना होगा. जो किसान खरीफ विपणन वर्ष 2020 -21 में धान खरीद के लिए रजिस्ट्रेशन करा चुके है, उन्हे गेहूं बेचने के लिए फिर से यह काम करवाने की जरूरत नहीं है. कृषि विभाग के मुताबिक 12.5 एकड़ से अधिक खेत होने पर एडीएम या जिला खरीद अधिकारी के लॉगइन पर सत्यापन होगा. यदि खतौनी में एक से अधिक भागीदार हैं तो एसडीएम के लॉगइन पर सत्यापन होगा. यदि मात्रा 100 क्विंटल से अधिक हो तो भी सत्यापन एसडीएम के स्तर पर ही होगा.


कैसे होगा रजिस्ट्रेशन

-स्टेप-1: में रजिस्ट्रेशन फार्म प्रिंट कर लें. प्रिंट किए गए प्रारूप की जांच करके आवश्यक सूचनाएं भर लें.
-स्टेप-2: पंजीकरण पपत्र के विकल्प से ऑनलाइन आवेदन दर्ज कर लें. ऑनलाइन आवेदन दर्ज होने पर पंजीकरण संख्या नोट कर लें.
-स्टेप-3: पंजीकरण ड्राफ्ट से ड्राफ्ट आवेदन पत्र प्रिंट कर लें. मोबाइल संख्या देकर पंजीकरण ड्राफ्ट फिर प्रिंट किया जा सकता है.
-स्टेप-4: आवेदन में दर्ज सभी पहलुओं की जांच करने के बाद यदि किसी संशोधन की आवश्यकता है तो
पंजीकरण संशोधन से मोबाइल संख्या देकर आवेदन में संशोधन किया जा सकता है.
स्टेप-5: पंजीकरण लॉक के विकल्प से आवेदन लॉक कर दें. आवेदन लॉक हो जाने के बाद उसमें कोई संशोधन किसी भी स्तर से संभव नहीं होगा.
स्टेप-6: पंजीकरण फाइनल प्रिंट के विकल्प से आवेदन का फाइनल प्रिंट ले कर सुरक्षित रख लें.
इस बात का रखें ध्यान

-कृषि योग्य जमीन की ही जानकारी दें.
-खतौनी, खसरा संख्या, फसल का रकबा भरना अनिवार्य है.
-आधार कार्ड व बैंक पास बुक का सही विवरण दर्ज करें.
-किसान अपने गांव से संबंधित खरीद केंद्र पर ही तौल करवाएगा.
-परिवार के उस सदस्य का ब्यौरा जो किसान के स्थान पर आधार बायोमेट्रिक से बिक्री कर सकेंगे.
-चकबन्दी के ग्रामों में बेचीं जाने वाली मात्रा का शत प्रतिशत सत्यापन कराया जाएगा.
-जब तक आवेदन लॉक नहीं किया जाता है, किसान पंजीकरण स्वीकार नहीं होगा.
गेहूं बिक्री के समय जरूरी कागजात

-किसान अपने फसल पंजीकरण प्रपत्र को लेकर आएं.
– कंप्यूटराइज्ड खतौनी
-फोटोयुक्त पहचान पत्र
-बैंक पासबुक (bank passbook) के पहले पेज की फोटोकॉपी.
-आधार कार्ड साथ लाएं.

loading...

Post a Comment

0 Comments

Adblock Detected

Like this blog? Keep us running by whitelisting this blog in your ad blocker

Thank you

×
Get the latest article updates from this site via email for free!