Space for advertisement

मुकेश अंबानी संदिग्ध कार की गुत्थी और उलझी? मौत से पहले शख्स ने लिखा था खत, खोले राज…



मुंबई: मुकेश अंबानी के घर के बाहर विस्फोटकों से लदी स्कॉर्पियो के मिलने की गुत्थी और उलझती जा रही है। मुकेश अंबानी के घर के बाहर मिले इस संदिग्ध स्कॉर्पियो से जुड़े कार पार्ट्स डीलर हिरेन मनसूख ने मौत से पहले पत्र लिखा था, जिसमें उन्होंने दावा किया था कि उन्हें पुलिस अधिकारियों और पत्रकारों द्वारा परेशान किया जा रहा है। महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे, राज्य के गृह मंत्री और मुंबई पुलिस प्रमुख को लिखे अपने पत्र में मृतक मनसूख ने कानूनी कार्रवाई और पुलिस सुरक्षा की मांग की थी। इस बात की जानकारी एनडीटीवी की रिपोर्ट में सामने आई है।

दरअसल, शुक्रवार को अंबानी के घर मिले संदिग्ध वाहन में उस वक्त बड़ा मोड़ आया, जब 45 वर्षीय मनसूख का शव मुंबई के ठाणे में नदी किनारे बरामद हुआ था। हिरेन मनसुख का शव शुक्रवार को ठाणे में नदी के किनारे बरामद हुआ। पुलिस के एक अधिकारी ने बताया था कि लगभग 45 वर्षीय मनसुख गुरुवार रात से लापता था और फिर अगले दिन मुंब्रा रेती बुंदर रोड से लगी एक नदी के किनारे पर उसका शव मिला था।

शूरू में ऐसी खबर आई कि संदिग्ध गाड़ी के मालिक मनसूख ही थे, मगर बाद में महाराष्ट्र के गृह मंत्री अनिल देशमुख ने स्पष्ट किया था कि कार के मालिक सैम मटन थे, जिन्होंने मनसुख को इंटीरियर का रखरखाव करने का काम दिया था। जब सैम ने इसके लिए भुगतान नहीं किया तो हिरेन ने यह कार अपने पास रख ली थी।

समाचार एजेंसी एएनआई के मुताबिक, इस मामले में एक एक्सीडेंटल मौत का मामाल दर्ज हुआ है और महाराष्ट्र के गृहमंत्री अनि देशमुख ने इस मामले को महाराष्ट्र एंटीर टेररजिम स्क्वाड यानी एटीएएस को सौंप दी है। वहीं, सीसीटीवी वीडियो में मनसूख को अपने आवासीय ब्लिडिंग के बाहर गुरुवार को टहलते देखा गया था।

2 मार्च को लिखे पत्र में मनसूख ने बताया था कि कैसे कार की चोरी हुई और पुलिस उसे कैसे परेशान कर रही है। मनसूख की मौत के बाद महाराष्ट्र विधानसभा में भाजपा ने इसकी जांच एनआईए से करने की मांग की थी, मगर अनिल देशमुख ने इसे खारिज कर दिया। बता दें कि शुक्रवार दोपहर मनसुख के परिवार के सदस्यों ने ठाणे के नौपाड़ा पुलिस थाने को बताया था कि वह लापता है।

गौरतलब है कि दक्षिण मुंबई में अंबानी के बहुमंजिला घर ‘एंटीलिया’ के पास 25 फरवरी को ‘स्कॉर्पियो’ कार के अंदर जिलेटिन की छड़ें रखी हुई मिली थीं। कहा जा रहा था कि इस कार का मालिक मनसुख है। पुलिस ने कहा था कि कार 18 फरवरी को एरोली-मुलुंद ब्रिज से चोरी हुई थी। मुंबई पुलिस की क्राइम ब्रांच ने इस मामले में मनसुख का बयान दर्ज किया था। वाहनों के पुर्जों का कारोबार करने वाले मनसुख ने कहा था कि अपनी कार चोरी होने के बाद उसने पुलिस में शिकायत दी थी।
loading...

Post a Comment

0 Comments

Adblock Detected

Like this blog? Keep us running by whitelisting this blog in your ad blocker

Thank you

×
Get the latest article updates from this site via email for free!