Space for advertisement

लाॅकडाउन का हुआ ऐलान तो ठेकों पर उमड़ पड़ी भीड, एक-दूसरे को चीर-चीरकर…



नई दिल्ली। दिल्ली में आगामी 26 अप्रैल तक लॉकडाउन के एलान के बाद शहर की शराब की दुकानों पर भारी भीड़ देखी जा रही है। दक्षिण दिल्ली के लाजपतनगर, ग्रेटर कैलाश, नेहरू प्लेस के साथ पूर्वी दिल्ली के लक्ष्मी नगर, शकरपुर आदि इलाकों में शराब की दुकानों पर भारी भीड़ है। यह भीड़ पूरी दिल्ली में है, वहीं, शराब के दुकानदार भी लाइन में लगे लोगों से शारीरिक दूरी के नियमों का पालन करवाने में असमर्थ हैं। वहीं, कहा जा रहा है कि हालात यही रहे तो कुछ देर बाद भीड़ को व्यवस्थित करने के लिए दिल्ली पुलिस को मोर्चा संभालना पड़ेगा। जिस तरह से लोग शारीरिक दूरी के नियमों को ताक पर रखकर शराब की दुकानों के बाहर लगे हैं, उससे कोरोना बम फूटने का खतरा भी मंडरा रहा है। कोरोना वायरस को फैलने से रोकने को लेकर विशेषज्ञों का कहना है कि मास्क लगाने के साथ शारीरिक दूरी के नियम का पालन भी जरूरी है।

दरअसल, बुधवार (21 अप्रैल) को रामनवमी के चलते दिल्ली में ड्राइ डे है और फिर लॉकडाउन के कारण शराब की दुकानें बंद रहेंगीं। ऐसे में सोमवार दोपहर में जैसे ही सीएम अरविंद केजरीवाल ने लॉकडाउन का एलान किया तो दिल्ली में शराब की दुकानों के बाहर जगह-जगह लंबी कतारें दिखीं।

शारीरिक नियमों की उड़ीं धज्जियां

दिल्ली के लाजपतनगर, लक्ष्मी नगर, जहांगीरपुरी समेत तमाम इलाकों में शराब की दुकानों बेतहाशा भीड़ जुटी हुई है। इस दौरान लाइन में लगने वाले शारीरिक दूरी के नियमों का उल्लंघन करते नजर आए।

इससे पहले पिछले साल जब दिल्ली में लंबे वक्त के बाद पिछले साल जब लॉकडाउन 3.0 में जनता को कई तरह की रियायत मिली थीं तो शराब की दुकानों के बाहर इसी तरह की भारी भीड़ नजर आई थी। इस दौरान दिल्ली में हालात इतने खराब हो गए थे कि कोई भी शारीरिक दूरी का पालन नहीं कर रहा था, ऐसे में दिल्ली पुलिस को लाठी चार्ज के साथ शराब की दुकानों को बंद तक करवाना पड़ा था।

दिल्ली में 25 से घटाकर 21 साल की गई शराब पीने की उम्र

बता दें कि पिछले दिनों दिल्ली सरकार ने एक्साइज पॉलिसी में बड़ा बदलाव किया है। अब दिल्ली में शराब की नई दुकानें खोली जाएंगी। शराब खरीदने के लिए लीगल उम्र भी 21 साल होगी, हालांकि अभी तक यह नियम लागू नहीं हुआ है। मनीष सिसोदिया ने ये भी बताया था कि अब शराब की नई दुकानें नहीं खोली जाएंगी। इसका मतलब हुआ कि दिल्ली में जितनी शराब की दुकानें हैं, उतनी ही रहेंगी।

यहां पर बता दें कि राजधानी दिल्ली में अभी कुल 850 शराब की दुकानें हैं। इनमें से 60 फीसद सरकारी और 40 फीसद प्राइवेट हैं। दिल्ली के डिप्टी सीएम ने एलान किया है कि दिल्ली में कोई भी नई शराब की दुकान नहीं खुलेगी। इसके साथ ही सरकारी शराब की दुकानों को भी बंद कर दिया जाएगा। मौजूदा सरकारी शराब की दुकानों की नीलामी की जाएगी और इन्हें निजी हाथों में दिया जाएगा। आपको निचे दी गयी खबरें भी पसंद आएँगी।
loading...

Post a Comment

0 Comments

Adblock Detected

Like this blog? Keep us running by whitelisting this blog in your ad blocker

Thank you

×
Get the latest article updates from this site via email for free!