Space for advertisement

अभी अभीः इजरायल और हमास के बीच भीषण जंग, 1000 राकेट दागे, बिछी लाशें ही लाशें



गाजा सिटी। इजराइल और फलीस्तीन के बीच खूनी संघर्ष अपने चरम की ओर बढ़ रहा है। इजराइल ने एक के बाद एक गाजा पट्टी पर कई हवाई हमले कर दो बहुमंजिला इमारतों को निशाना बनाया, जिनके बारे में उसका मानना था कि वहां हमास के उग्रवादी छिपे थे, वहीं हमास और अन्य सशस्त्र समूहों ने दक्षिणी इजराइल पर सैकड़ों रॉकेट दागे। इस हमले में दोनों ओर से मौतें हुईं हैं। एक ओर जहां इजराइली हवाई हमले में मरने वालों की संख्या में इजाफा हो रहा है और अब तक 43 फलीस्तीनी मर चुके हैं। वहीं, हमास के हमले में इजराइल के 5 लोग मारे जा चुके हैं। यरूशलम में हफ्तों के तनाव के बाद यह झड़प हुई हैं।

गाजा के स्वास्थ्य मंत्राललय ने कहा कि इजराइली हमले में 13 बच्चों और एक महिला समेत 43 फलस्तीनियों की मौत हुई है। अधिकतर मौत हवाई हमलों से हुई। हालांकि, इजराइली सेना ने कहा कि मरने वालों में कम से कम 16 उग्रवादी थे। इसी अवधि के दौरान गाजा के उग्रवादियों ने इजराइल की तरफ सैकड़ों रॉकेट दागे जिसमें एस्कलोन शहर में दो इजराइली महिलाओं की मौत हो गई जबकि 13 अन्य घायल हो गए।

न्यूज एजेंसी रॉयटर्स के मुताबिक इजराइल ने गजा पट्टी में बुधवार सुबह सैकड़ों हवाई हमले किए हैं। हमास और अन्य उग्रवादी संगठनों की ओर से किए गए अटैक के जवाब में इजराइल ने ये हमले किए हैं। इन संगठनों ने इजरायल की राजधानी तेल अवीव और बीरशेबा में अटैक किए थे। इजराइल की ओर से किए गए हमलों में गजा पट्टी में स्थित एक बहुमंजिला इमारत गिर गई है। इसके अलावा एक अन्य इमारत को बुरी तरह से नुकसान पहुंचा है। इन इमारतों को निशाना बनाते हुए इजराइल ने एयर स्ट्राइक्स की थीं।

वर्तमान हिंसक झड़प में पहली बार इजराइली नागरिकों की मौत के बाद इजराइल के प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्याहू ने कहा कि अधिकारियों ने आतंकी संगठन हमास और गाजा पट्टी में इस्लामिक जिहाद के खिलाफ हमले तेज करने का फैसला किया है। इजराइली सेना के मुताबिक उसने गाजा में उग्रवादी संगठन इस्लामिक जिहाद के एक वरिष्ठ कमांडर को मार दिया है। उसने कहा कि मारे गए आतंकी कमांडर की पहचान समीह-अल-मामलुक के तौर पर हुई है जो इस्लामिक जिहाद की रॉकेट इकाई का प्रमुख था। सेना ने कहा कि हमले में उग्रवादी संगठन के अन्य बड़े उग्रवादी भी मारे गए हैं।

इस्लामिक जिहाद ने गाजा सिटी में एक अपार्टमेंट पर हुए हवाई हमले में तीन लोगों की मौत की पुष्टि की है जो उसकी सशस्त्र शाखा के वरिष्ठ सदस्य थे। उग्रवादी संगठन ने बदला लेने की बात कही है। वहीं तनाव के और बढ़ने का संकेत देते हुए इजराइल ने सैन्य अभियान का दायरा बढ़ाने की बात कही है। सेना ने कहा कि वह गाजा सीमा पर अपने सैनिकों की संख्या बढ़ा रही है और रक्षा मंत्री ने 5000 आरक्षित सैनिकों को वहां भेजने का आदेश दिया है। इस बीच एक सकारात्मक संकेत है। अधिकारियों के मुताबिक मिस्र संघर्ष विराम के लिये काम कर रहा है।

रात में हुए रॉकेट व हवाई हमले से पहले फलस्तीनियों और इजराइल के सुरक्षा बलों के बीच घंटों झड़प होती रही। झड़प यरुशलम की अल-अक्सा मस्जिद परिसर में भी हुई जिसे यहूदी और मुसलमान दोनों पवित्र मानते हैं। बढ़ती अशांति के संकेतों के बीच इजराइल में अरब समुदाय के सैकड़ों लोगों ने फलस्तीन के खिलाफ इजराइली बलों की हालिया कार्रवाई की निंदा करते हुए प्रदर्शन किया। इसे हाल के वर्षों में इजराइल में फलस्तीनी नागरिकों द्वारा सबसे बड़ा प्रदर्शन माना जा रहा है।

इजराइल और इजराइल की बर्बादी चाहने वाले इस्लामी आतंकी संगठन हमास ने तीन जंग लड़ीं और गाजा पर आतंकी संगठन के 2007 में हुए कब्जे के बाद से कई बार झड़प भी देखने को मिली। पूर्व में इजराइल और गाजा पर शासन करने वाले हमास के बीच होने वाला सीमा पार संघर्ष कुछ दिनों बाद समाप्त हो जाता था जिसका कारण अक्सर पर्दे के पीछे से कतर, मिस्र और अन्य देशों द्वारा की जाने वाली मध्यस्थता होती थी।
loading...

Post a Comment

0 Comments

Adblock Detected

Like this blog? Keep us running by whitelisting this blog in your ad blocker

Thank you

×
Get the latest article updates from this site via email for free!