Space for advertisement

पिच पर लगाया कूड़ों का ढेर! फिर की इस कीवी बल्लेबाज ने प्रैक्टिस



WTC Final का मंच तैयार है. टीमें तैयारी में जुट गई हैं. बस इंतजार है तो 18 जून का, जिस दिन उसका बिगुल बजेगा. गेम ऑन होगा. लेकिन गेम ऑन हो उससे पहले भारत (Team India) की नाक में दम करने की एक कीवी बल्लेबाज बड़ी प्लानिंग कर रहा है. उसने प्रैक्टिस तो शुरू की है. लेकिन, उनकी प्रैक्टिस का अंदाज जुदा है. दरअसल, वो नहीं चाहता कि भारत की जिस ताकत के आगे ऑस्ट्रेलिया को कुछ महीने पहले अपने घर में घुटने टेकने पड़े थे. उसी ताकत से टीम इंडिया न्यूजीलैंड (New Zealand) का भी इंग्लैंड (England) में बैंड बजा दे. लिहाजा, उसने प्रैक्टिस से पहले पिच पर कूड़ों का ढेर लगा दिया है.

अब आप सोच रहे होंगे कि कूड़ों के ढेर पर भला प्रैक्टिस कैसे होगी. तो ऐसा सोचना लाजमी है. पर यहां पिच पर कूढ़े के ढेर से मतलब उसके छोटे-छोटे कणों से सने मिट्टी वाली पिच पर प्रैक्टिस करने से है. ये एक तरह से दानेदार मिट्टी की बनी पिच होती है. अब जिस बल्लेबाज ने कूड़े के कणों से सनी मिट्टी वाली पिच पर प्रैक्टिस की उसके बारे में भी जान लीजिए. इन जनाब का नाम डेवोन कॉन्वे. न्यूजीलैंड के लिए व्हाइट बॉल क्रिकेट में तो कॉन्वे डेब्यू कर चुके हैं. धूम भी मचा चुके हैं. लेकिन, टेस्ट क्रिकेट में उन्हें अभी अपने डेब्यू करने का इंतजार है.

दानेदार पिच के जरिए जीत तलाशने का प्रयास

कॉन्वे के दानेदार मिट्टी वाली पिच पर प्रैक्टिस करने के मायने क्या हैं, अब जरा वो समझिए. दरअसल, ऐसी पिच पर प्रैक्टिस से उन्हें भारतीय स्पिन और खासकर अश्विन और जडेजा के जादू से निपटने में आसानी होगी. ऑस्ट्रेलिया को उसके घर में धूल चटाने में भारतीय फिरकी का बड़ा रोल रहा था. कॉन्वे ये नहीं चाहते कि इंग्लैंड में अगर डेब्यू का मौका मिलने पर उनका सामना टीम इंडिया से हो, तो उन्हें खेलने में मुश्किलें न हो.

स्पिन का तोड़ ढूढ़ने में कारगर ऐसी पिच- कॉन्वे

न्यूजीलैंड के इंग्लैंड दौरे की टीम में कॉन्वे को न सिर्फ वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप के फाइनल के लिए चुना गया है . बल्कि उससे पहले उन्हें इंग्लैंड के खिलाफ 2 टेस्ट की सीरीज खेलने वाली टीम में भी रखा गया है. 29 साल के बाएं हाथ के बल्लेबाज ने कहा कि कूड़े के कणों वाली दानेदार पिच पर प्रैक्टिस करने का मकसद सिर्फ स्पिन को अच्छे से खेलना है.

2 जून से न्यूजीलैंड का मिशन इंग्लैंड

कॉन्वे ने माना कि ऐसी पिचों पर खेलने में मुश्किल होती है.लेकिन, स्पिन का तोड़ ढूढ़ने का इससे बेहतर तरीका भी नहीं है. इंग्लैंड दौरे पर न्यूजीलैंड अपने अभियान की शुरुआत 2 जून से करेगी. ये वो तारीख होगी, जिस दिन टीम इंडिया भारत से इंग्लैंड जाने वाली फ्लाइट में बैठेगी.
loading...

Post a Comment

0 Comments

Adblock Detected

Like this blog? Keep us running by whitelisting this blog in your ad blocker

Thank you

×
Get the latest article updates from this site via email for free!