Space for advertisement

बिहार में अब कोरोना की तीसरी लहर से लड़ाई की तैयारी, बुजुर्गों-युवाओं के बाद बच्चों को बचाने के लिए जंग शुरू

Bihar Corona Update : बिहार में कोरोना की तीसरी संभावित लहर से लड़ाई के लिए जंग की तैयारी शुरू हो गई है। इसी कड़ी में पटना एम्स में एक बड़ा ट्रेनिंग सेशन आयोजित किया गया है।


कोरोना की दूसरी लहर से जूझ रहे बिहार में तीसरी लहर से लड़ाई के लिए बिगुल फूंक दिया गया है। गुरुवार को इसी वजह से पटना एम्स में एक ट्रेनिंग सेशन किया गया है। इसमें कोविड 19 की तीसरी लहर से जंग के लिए तैयारी शुरू कर दी गई है।

पहले दिन देखभाल पर तैयारी
ट्रेनिंग सेशन के पहले कोरोना की तीसरी लहर को लेकर डॉक्टरों, एनेस्थिसियोलॉजिस्ट और स्टाफ नर्सों को महत्वपूर्ण देखभाल की जानकारी दी गई। राज्य बच्चों में कोरोना की तीसरी लहर की संभावित जटिलताओं से निपटने के लिए पूरे बिहार में जल्द ही बच्चों के डॉक्टरों को ट्रेनिंग भी दी जाएगी। माना जा रहा है कि कोरोना की तीसरी लहर बच्चों को ही ज्यादा प्रभावित कर सकती है।

स्वास्थ्य विभाग ने लिखी थी चिट्ठी
17 मई को ही अतिरिक्त मुख्य सचिव (स्वास्थ्य), प्रत्यय अमृत ने सभी सरकारी मेडिकल कॉलेजों और अस्पतालों के प्रमुखों और सिविल सर्जनों को एक पत्र जारी किया था। पत्र में कहा गया है कि सभी सरकारी स्वास्थ्य संस्थानों के डॉक्टरों और नर्सों को उनकी कोविड-19 प्रबंधन क्षमता बढ़ाने के लिए एम्स-पटना (सेंटर फॉर एक्सीलेंस) से प्रशिक्षण दिया जाना चाहिए।

300 स्वास्थ्यकर्मियों की हुई ट्रेनिंग
गुरुवार को करीब 300 स्वास्थ्यकर्मी इस ऑनलाइन ट्रेनिंग प्रोग्राम में शामिल हुए। सूत्रों के मुताबिक दूसरी लहर में कोविड -19 मामलों की संख्या में तेज बढ़ोतरी और आईसीयू प्रबंधन प्रशिक्षण की कमी ही इस कार्यशाला के आयोजन के कारणों में से एक थी।

USAID, RISE के कार्यक्रम अधिकारी डॉ ए कुमार ने कहा कि पहले चरण का प्रशिक्षण शुक्रवार को समाप्त होने के बाद 27 और 28 मई को निर्धारित दो दिवसीय प्रशिक्षण का दूसरे चरण आयोजित किया जाएगा। दूसरा सेशन प्राचार्यों और अधीक्षकों के लिए होगा। साथ में मेडिसिन, एनेस्थीसिया, पल्मोनरी मेडिसिन, कम्युनिटी मेडिसिन, पीडियाट्रिक्स और माइक्रोबायोलॉजी विभाग के फैकल्टी मेंबर्स भी इसमें जुड़ेंगे।

जून के पहले हफ्ते में शिशु रोग विशेषज्ञों की ट्रेनिंग
बताया गया है कि जून के पहले हफ्ते में राज्य भर के बाल रोग विशेषज्ञों के लिए एक विशेष प्रशिक्षण सत्र भी आयोजित किया जाएगा, इसमें निजी प्रैक्टिस करने वाले डॉक्टर भी शामिल होंगे। डॉक्टर कुमार के मुताबिक 'इन डॉक्टरों को जून के पहले हफ्ते में ट्रेनिंग दी जाएगी। हमें उम्मीद है कि लगभग 1,200 बाल रोग विशेषज्ञ हमारे प्रशिक्षण कार्यक्रम का हिस्सा बनेंगे।' इन वर्चुअल प्रशिक्षण सत्रों के अलावा हर जिले के एक डॉक्टर और एक नर्स को भी आईसीयू प्रबंधन में प्रैक्टिकल ट्रेनिंग दी जाएगी।

Vaishali News: लड़की गायब होने की शिकायत लेकर थाने पहुंचे परिजनों को थानेदार ने पीटा, Video वायरल
बिहार में कोरोना की पॉजिटिविटी रेट में कमी
बिहार में कोरोना की पॉजिटिविटी रेट में कमी आने लगी है। कल यानि 20 मई को राज्य स्वास्थ्य विभाग ने जो आंकड़े जारी किए हैं उससे ये जाहिर हो रहा है। पिछले 24 घंटों में बिहार में 5,871 नए कोरोना पॉजिटिव मिले हैं। इसके साथ बिहार में पॉजिटिविटी रेट बढ़कर 91.32% हो गया है।

मौत के आंकड़ों अभी भी डराने वाले
हालांकि राज्य में मौत के आंकड़े अभी भी भयावह हैं। लगातार दो दिन सौ से ज्यादा मौत के बाद तीसरे दिन राज्य में कोरोना से 98 लोगों ने दम तोड़ दिया। माना जा रहा है कि इस बार का संक्रमण पहली लहर से कहीं ज्यादा जानलेवा साबित हो रहा है। ऐसे में डॉक्टर और सरकार लगातार लोगों को मास्क और सोशल डिस्टेंसिंग बरतने की सलाह दे रहे हैं। निचे दी गयी ये खबरें भी जरूर पढ़ें
loading...

Post a Comment

0 Comments

Adblock Detected

Like this blog? Keep us running by whitelisting this blog in your ad blocker

Thank you

×
Get the latest article updates from this site via email for free!