Space for advertisement

चक्रवाती तूफान यास का असर, इन राज्यों में हो रही जोरदार बारिश, अलर्ट जारी



नई दिल्ली. चक्रवाती तूफान यास का असर बंगाल, ओडिशा से लेकर अब बिहार-यूपी समेत देश के कई इलाकों में दिख रहा है। यास तूफान की वजह से मौसम ने ऐसी करवट ली है कि बंगाल से लेकर बिहार-यूपी तक पानी-पानी हो गया है। बंगाल और ओडिसा में तबाही मचाने के बाद अब बिहार, पूर्वी उत्तर प्रदेश में यास अपना विकराल रूप दिखा रहा है। बिहार, झारखंड से लेकर पश्चिम बंगाल और यूपी तक के ज्यादातर इलाकों में लगातार बारिश हो रही है। तेज हवाओं के साथ भारी बारिश हो रही है और ऐसा लग रहा है कि अभी सावन-भादो का महीना हो। यास की वजह से जन-जीवन भी पूरी तरह से अस्त-व्यस्त हो चुका है और उत्तर बिहार के ज्यादातर इलाकों में बीते 24 घंटे से बिजली गुल है।

चक्रवात यास की वजह से पश्चिम बंगाल, बिहार, झारखंड और पूर्वी यूपी के कई जिलों में भी बीते 24 घंटे में तेज हवाओं के साथ भारी बारिश हो रही है। ओडिशा और बंगाल में तबाही मचाने वाला यास भले ही झारखंड-बिहार में आकर कमजोर पड़ चुका है मगर इसका असर मौसम पर दिख सकता है। बिहार में तेज हवाओं के साथ बारिश ने आम और लीची की फसलों को काफी नुकसान पहुंचाया है। फिलहाल, राहत के संकेत नहीं दिख रहे हैं क्योंकि बिहार और इससे सटे पूर्वी उत्तर प्रदेश में अगले 48 घंटों तक हल्की से मध्यम बारिश होगी। एक दो स्थानों पर भारी बारिश का पूर्वानुमान है।

बाढ़ जैसी स्थिति बन सकती है
इतना ही नहीं, बिहार में दक्षिण और पूर्वी में ठनका गिरने की चेतावनी जारी की गई है। अगले 24 से 48 घंटों में मध्य बिहार में भी कुछ जगहों पर ठनका गिरने की आशंका है। बारिश से सड़कों पर पानी भर आया है और जगह-जगह जलभराव हो गया है। मौसम विज्ञान केंद्र के निदेशक विवेक सिन्हा ने बताया कि राज्य भर में हल्की से मध्यम तीव्रता की बारिश अगले दो दिनों तक होने की वजह से कुछ जगहों पर जलजमाव या बाढ़ जैसी स्थिति बन सकती है। उन्होंने कहा कि चूंकि चक्रवाती सिस्टम अब कम दबाव के क्षेत्र के रूप में बदल गया है इस वजह से मौसम की तीव्रता भी कम हो गई है। यानी पहले किए गए पूर्वानुमान से भी कम बारिश और हवा की गति सूबे में दिखेगी।

मई में सावन जैसे नजारे
पिछले 24 घंटों में राज्य के झारखंड की सीमा से सटे जिलों में कुछ जगहों पर भारी बारिश दर्ज की गई। इनमें शेरघाटी में 70 मिमी, इस्लामपुर और मखदुमपुर में 60 मिमी, टिकारी में 50 मिमी, वैशाली, बिहारशरीफ, औरंगाबाद, ब्रहमपुर, बोधगया, घोसी, अरवल और गया में 40 मिमी बारिश हुई है। पटना में दिन भर रूक-रूक बारिश होती रही और गुरुवार सुबह साढ़े आठ बजे से शाम साढ़े पांच बजे के बीच को 12.8 मिमी बारिश हुई। इसी समयावधि में गया में 47.8, भागलपुर 28.6, जमुई में पूर्णिया 20 औरंगाबाद में 26.5 और जमुई में 30 मिमी बारिश रिकॉर्ड की गई है। शुक्रवार को भी बारिश का सिलसिला जारी है।

जानें अगले कुछ दिनों के मौसम का हाल
29 मई का मौमस: बिहार, केरल और अंडमान-निकोबार में भारी बारिश होने की संभावना व्यक्त की गई है। उत्तर प्रदेश, मध्य प्रदेश, झारखंड, छत्तीसगढ़ और राजस्थान समेत देश के कुछ इलाकों में तेज हवाएं चल सकती हैं।

30 मई का मौसम: असम, मेघालय और केरल में भारी बारिश होगी। हालांकि, पंजाब, हरियाणा, पश्चिम बंगाल, मध्य प्रदेश, तेलंगाना, ओडिशा आदि राज्यों में आंधी की संभावना व्यक्त की गई है। इस दौरान हवा की रफ्तार करीब 40 से 50 किलोमीटर प्रति घंटा रह सकती है।

31 मई का मौसम: पश्चिम बंगाल, सिक्किम, अरुणाचल प्रदेश, असम, मेघालय , तमिलनाडु और पुडुचेरी में भारी बारिश की संभावना जताई गई है। इस दौरान हवा की रफ्तार भी तेज होगी।  निचे दी गयी ये खबरें भी जरूर पढ़ें
loading...

Post a Comment

0 Comments

Adblock Detected

Like this blog? Keep us running by whitelisting this blog in your ad blocker

Thank you

×
Get the latest article updates from this site via email for free!