Space for advertisement

IPL 2021 में एक भी मैच न खिलाए जाने के बाद कुलदीप यादव छलका का दर्द, कही बड़ी बात



भारतीय गेंदबाज कुलदीप यादव ने खुलासा किया है कि किस तरह बेंच पर लगातार बैठे रहने से उनके आत्मविश्वास पर असर पड़ा है. 2017 में अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में डेब्यू के बाद से बाएं हाथ के स्पिनर ने राष्ट्रीय टीम के लिए तीनों प्रारूप खेले हैं. हालाँकि, पिछले 12 महीनों में, उन्हें ज्यादा मौके नहीं मिले हैं.

कुलदीप ने फरवरी में करीब दो साल वर्ष इंग्लैंड के खिलाफ घरेलू सीरीज से वापसी की थी लेकिन उनका प्रदर्शन अच्छा नहीं रहा और उन्हें सिर्फ़ 2 विकेट मिल पायी. हैरानी वाली बात ये थी कि अहमदाबाद में स्पिन-मददगार विकेट पर कुलदीप यादव को ड्राप कर दिया गया था. जिसके बाद दो वनडे में कोई भी विकेट न लेने के बाद उन्हें पुणे वनडे से भी ड्राप कर दिया गया था. पिछले 16 महीनें से कुलदीप को सिर्फ़ टी20I में ही मौके मिले हैं.

IPL 2021 में नहीं मिला एक भी मौका

इंडियन प्रीमियर लीग(आईपीएल) 2021 में कुलदीप यादव के अच्छे प्रदर्शन के बाद उनकी वापसी की उम्मीद जताई जा रही थी लेकिन हैरानी वाली बात ये रही कि कोलकाता नाईट राइडर्स टीम ने उन्हें एक भी मौका नहीं दिया. इस दौरान सबसे हैरान करने वाली बात ये रही कि चेन्नई की स्पिन विकेट पर कुलदीप एक मौके की तरह तरसते रहे.

केकेआर टीम मैनेजमेंट के इस व्यवहार से कुलदीप यादव काफी आहत हैं और उनका आत्मविश्वास काफी कम हुआ हैं. इंडियन एक्सप्रेस से बातचीत के दौरान कुलदीप यादव ने कहा, “आईपीएल में कोलकाता नाइट राइडर्स की टीम में मौका नहीं मिलने के कारण से वो मानसिक तौर पर काफी परेशान हो गए. मेरे मैन में ख्याल आने लगा कि क्या मैं इतना बुरा हूं? ये टीम मैनेजमेंट का निर्णय है और उनसे जाकर प्रश्न करना सही नहीं था. चेन्नई की विकेट टर्निंग ट्रैक होती है और इसके बावजूद मुझे खेलने का एक भी मौका नहीं मिला. मैं काफी आश्चर्यचकित रह गया था हालाँकि मैं कुछ नहीं कर सका.”

loading...

Post a Comment

0 Comments

Adblock Detected

Like this blog? Keep us running by whitelisting this blog in your ad blocker

Thank you

×
Get the latest article updates from this site via email for free!