---Third party advertisement---

अभी-अभी: तीसरी लहर के चलते पीएम मोदी ने बुलाई हाई लेवल मीटिंग, एक बार फिर पूरे देश में…



नई दिल्ली: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मंगलवार को कोरोना वायरस की तीसरी लहर की आशंका के बीच मीटिंग बुलाई है। मीटिंग आज दोपहर करीब 3:30 बजे बुलाई है। मीटिंग में कोरोना की मौजूदा स्थिति, इससे निपटने के लिए अब तक उठाए गए कदमों और कोरोना की तीसरी लहर से निपटने के लिए नई पहलोंं पर चर्चा होगी। बता दें की पीएम मोदी की इस मीटिंग में स्वास्थ्य मंत्रालय, कैबिनेट सचिव और नीति आयोग भी शामिल होंगे।

अक्टूबर में आ सकती है तीसरी लहर
नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ डिजास्टर मैनेजमेंट (NIDM) की तीसरी लहर आने की आशंका को लेकर अध्ययन कर इससे निपटने की तैयारियां कर रही है। इस पैनल ने PMO को भेजी अपनी रिपोर्ट में कहा है कि अक्टूबर में आ सकता है कोरोना का तीसरा लहर। साथ ही उन्होंने यह भी बताया कि इस बात के पर्याप्त साक्ष्य नहीं मिले हैं की बच्चों पर वायरस अधिक खरनाक होगा, लेकिन वायरस के फैलने से बच्चों में खतरा बढ़ सकता है। इसका मुख्य कारण बच्चों के बीच टीकाकरण ना होना बताया जा रहा है।

दूसरी लहर से अधिक खतरनाक नहीं होगी तीसरी लहर
कोरोना महामारी के गणितीय मॉडलिंग में शामिल IIT कानपुर के वैज्ञानिक मनिंद्र अग्रवाल ने बताया है कि अगर डेल्टा वायरस सितंबर के आखिरी तक पूरी तरह से एक्टिव हो जाता है, तो तीसरी लहर नवंबर में अपने पीक पर होगी। उन्होंने यह भी कहा कि यह लहर दूसरी लहर जितनी खतरनाक नहीं होगी। अगर डेल्टा से अधिक संक्रामक वेरिएंट सामने नहीं आता है, तो शायद कोरोना की तीसरी लहर नहीं आए।

कोरोना गाइडलाइन का सभी लोग पालन करें
Pm मोदी ने सभी लोगों से अपील भी की है की वह कोरोना की गाइडलाइन का पालन पहले की तरह ही करें, लापरवाही न करें, क्योंकि कोरोना अभी खत्म नहीं हुआ है। अभी तीसरी लहर आने वाली है इसे देखते हुए सभी लोग अपना और अपने घरवालों का खास ख्याल रखें, जिससे उन्हें कुछ न हो।

Post a Comment

0 Comments