---Third party advertisement---

सावधान: अक्टूबर में कहर बरपायेगी कोरोना की तीसरी लहर, केंद्र सरकार की टीम की रिपोर्ट, बच्चों को सबसे ज्यादा खतरा

PATNA: कोरोना की दूसरी लहर के बाद लोग जिस तरह से लापरवाह हो गये हैं उनकी नींद उड़ाने वाली खबर सामने आयी है. केंद्र सरकार की एक कमेटी ने कहा है कि इसी अक्टूबर में कोरोना की तीसरी लहर कहर बरपा सकती है. भयावह बात ये है कि कोरोना की तीसरी लहर से सबसे ज्यादा खतरा बच्चों को हो सकता है. केंद्र सरकार की टीम ने तीसरी लहर को लेकर देश में की जा रही तैयारी को नाकाफी बताते हुए इलाज के तमाम बंदोबस्त तैयार रखने को कहा है.

अक्टूबर में कहर बरपेगा

ये रिपोर्ट केंद्रीय गृह मंत्रालय की एक कमेटी ने दी है. कमेटी ने प्रधानमंत्री कार्यालय को पत्र लिख कर चेतावनी जारी की है. केंद्रीय गृह मंत्रालय के तहत आने वाले नेशनल इंस्टीच्यूट ऑफ डिजास्टर मैनेजमेंट की कमेटी ने कोरोना की तीसरी लहर का अध्ययन करने के बाद रिपोर्ट तैयार किया है. इस रिपोर्ट के मुताबिक देश में सितंबर के आखिर तक कोरोना की तीसरी लहर का असर दिखना शुरू हो जायेगा. अक्टूबर में इसका पीक आयेगा. तब ऐसी स्थिति हो सकती है कि देश में हर रोज कोरोना के 5 लाख से ज्यादा मरीज पाये जायें. ऐसे में पूरे देश में दो महीने तक जनजीवन पूरी तरह से अस्त व्यस्त हो जायेगा. कई जगहों पर लॉकडाउन की भी जरूरत पड़ेगी.

बच्चों पर सबसे ज्यादा खतरा

गृह मंत्रालय की कमेटी की रिपोर्ट के मुताबिक कोरोना की तीसरी लहर का सबसे ज्यादा प्रभाव बच्चों पर देखने को मिल सकता है. लिहाजा देश भर में इलाज के संसाधनों को तैयार करके रखने की जरूरत है. अस्पतालों को दुरूस्त करना होगा. रिपोर्ट में सलाह दी गयी है कि देशभर के अस्पतालों में बच्चों के इलाज के तमाम व्यवस्था, वेंटीलेटर, डॉक्टर, मेडिकल स्टाफ, एंबुलेंस, ऑक्सीजन का इंतजाम अभी से कर लिया जाना चाहिये. बच्चों औऱ युवाओं को भी से ही खास तौर पर सावधानी बरतनी चाहिये.

23 प्रतिशत मरीजों को अस्पताल की जरूरत पड़ेगी

दरअसल कोरोना की तीसरी लहर को लेकर पहले भी केंद्र सरकार की कमेटी ने आशंकायें जाहिर की है. नीति आय़ोग के सदस्य वी के पॉल के नेतृत्व में कमेटी बनायी गयी थी, जिसने ये कहा था कि अब अगर कोरोना के मामले बढ़ते हैं तो 23 फीसदी लोगों को अस्पताल में भर्ती कराना पड़ेगा. यानि हर 100 में 23 मरीज को अस्पताल की चिकित्सीय सुविधा की जरूरत होगी. कोरोना के संभावित मरीजों के इलाज के लिए देश में कम से कम 2 लाख आईसीयू बेड तैयार करके रखने होंगे. वहीं गृह मंत्रालय की कमेटी ने बच्चों पर कोरोना के खतरे को देखते हुए अस्पताले में ऐसे वार्ड तैयार करने की सलाह दी है जिसमें उनके अभिभावकों को भी साथ रहने की सुविधा हो. बच्चों का टीकाकरण जल्द शुरू करने की भी सिफारिश की गयी है. निचे दी गयी खबरें भी पढ़ें
  • बढ़ती जा रही है महिलाओं दवारा प्राइवेट पार्ट में तंबाकू रखने की घटना, जानिए क्यों करती हैं ऐसा
  • रात को पत्नी ने कहा पांव में पायल चुभ रही है उतार दो, सुबह होते ही पति के उड़ गए होश
  • बिस्तर में जाने से पहले खाएं एक प्याज फिर देखें कमाल
  • Punjab, Ludhiana, Jalandhar, Amritsar, Patiala, Sangrur, Gurdaspur, Pathankot, Hoshiarpur, Tarn Taran, Firozpur, Fatehgarh Sahib, Faridkot, Moga, Bathinda, Rupnagar, Kapurthala, Badnala, Ambala,Uttar Pradesh, Agra, Bareilly, Banaras, Kashi, Lucknow, Moradabad, Kanpur, Varanasi, Gorakhpur, Bihar, Muzaffarpur, East Champaran, Kanpur, Darbhanga, Samastipur, Nalanda, Patna, Muzaffarpur, Jehanabad, Patna, Nalanda, Araria, Arwal, Aurangabad, Katihar, Kishanganj, Kaimur, Khagaria, Gaya, Gopalganj, Jamui, Jehanabad, Nawada, West Champaran, Purnia, East Champaran, Buxar, Banka, Begusarai, Bhagalpur, Bhojpur, Madhubani, Madhepura, Munger, Rohtas, Lakhisarai, Vaishali, Sheohar, Sheikhpura, Samastipur, Saharsa, Saran, Sitamarhi, Siwan, Supaul,Gujarat, Ahmedabad, Vadodara, Surat, Rajkot, Vadodara, Junagadh, Anand, Jamnagar, Gir Somnath, Mehsana, Kutch, Sabarkantha, Amreli, Kheda, Rajkot, Bhavnagar, Aravalli, Dahod, Banaskantha, Gandhinagar, Bhavnagar, Jamnagar, Valsad, Bharuch , Mahisagar, Patan, Gandhinagar, Navsari, Porbandar, Narmada, Surendranagar, Chhota Udaipur, Tapi, Morbi, Botad, Dang, Rajasthan, Jaipur, Alwar, Udaipur, Kota, Jodhpur, Jaisalmer, Sikar, Jhunjhunu, Sri Ganganagar, Barmer, Hanumangarh, Ajmer, Pali, Bharatpur, Bikaner, Churu, Chittorgarh, Rajsamand, Nagaur, Bhilwara, Tonk, Dausa, Dungarpur, Jhalawar, Banswara, Pratapgarh, Sirohi, Bundi, Baran, Sawai Madhopur, Karauli, Dholpur, Jalore,Haryana, Gurugram, Faridabad, Sonipat, Hisar, Ambala, Karnal, Panipat, Rohtak, Rewari, Panchkula, Kurukshetra, Yamunanagar, Sirsa, Mahendragarh, Bhiwani, Jhajjar, Palwal, Fatehabad, Kaithal, Jind, Nuh, बिहार, मुजफ्फरपुर, पूर्वी चंपारण, कानपुर, दरभंगा, समस्तीपुर, नालंदा, पटना, मुजफ्फरपुर, जहानाबाद, पटना, नालंदा, अररिया, अरवल, औरंगाबाद, कटिहार, किशनगंज, कैमूर, खगड़िया, गया, गोपालगंज, जमुई, जहानाबाद, नवादा, पश्चिम चंपारण, पूर्णिया, पूर्वी चंपारण, बक्सर, बांका, बेगूसराय, भागलपुर, भोजपुर, मधुबनी, मधेपुरा, मुंगेर, रोहतास, लखीसराय, वैशाली, शिवहर, शेखपुरा, समस्तीपुर, सहरसा, सारण सीतामढ़ी, सीवान, सुपौल, Latest News #बिहार, #मुजफ्फरपुर, #पूर्वी चंपारण, #कानपुर, #दरभंगा, #समस्तीपुर, #नालंदा, #पटना, #मुजफ्फरपुर, #जहानाबाद, #पटना, #नालंदा, #अररिया, #अरवल, #औरंगाबाद, #कटिहार, #किशनगंज, #कैमूर, #खगड़िया, #गया, #गोपालगंज, #जमुई, #जहानाबाद, #नवादा, #पश्चिम चंपारण, #पूर्णिया, #पूर्वी चंपारण, #बक्सर, #बांका, #बेगूसराय, #भागलपुर, #भोजपुर, #मधुबनी, #मधेपुरा, #मुंगेर, #रोहतास, #लखीसराय, #वैशाली, #शिवहर, #शेखपुरा, #समस्तीपुर, #सहरसा, #सारण #सीतामढ़ी, #सीवान, #सुपौल, #Latest News

Post a Comment

0 Comments