---Third party advertisement---

पोस्ट ऑफिस में है बचत खाता, तो जरूर पढ़ें यह खबर, वरना होगी परेशानी



Post Office Savings Account: भले ही बैंकों ने तमाम तरह के बचत खातों की पेशकश कर दी हो लेकिन डाकघर का बचत खाता आज भी कई लोगों के बीच पॉपुलर बना हुआ है। आज भी कई नागरिक पोस्ट ऑफिस में बचत खाता रखते हैं। पोस्‍ट ऑफिस में 500 रुपये में सेविंग्‍स अकाउंट खुल जाता है। ब्याज दर वर्तमान में 4 फीसदी सालाना है। वैसे तो डाकघर बचत खाते का ब्याज हर वित्त वर्ष के आखिर में खाते में क्रेडिट हो जाता है। लेकिन अगर आपने एक गलती कर डाली तो महीने में एक रुपये का भी ब्याज हासिल नहीं होगा। आइए जानते हैं क्या है वह गलती-

​ये गलती करा देगी नुकसान

इंडिया पोस्ट की वेबसाइट पर मौजूद जानकारी के मुताबिक, डाकघर बचत खाते में ब्याज की गणना महीने की 10 तारीख और महीने के अंत के बीच खाते में मौजूद न्यूनतम बैलेंस के आधार पर की जाती है। यदि किसी महीने में 10 तारीख और महीने के अंत के बीच, खाते में शेष राशि 500 रुपये से कम हुई तो उस महीन कोई ब्याज देय नहीं होगा। इसलिए याद रहे कि आपके डाकघर बचत खाते में महीने की 10 तारीख और आखिरी तारीख के बीच कम से कम मिनिमम 500 रुपये का बैलेंस तो बरकरार रहे।

​मिनिमम बैलेंस नहीं रखा तो पेनल्टी भी लगेगी

पोस्‍ट ऑफिस सेविंग्‍स अकाउंट में मिनिमम बैलेंस 500 रुपये रखना जरूरी है। मैक्सिमम कितना ही बैलेंस रख सकते हैं। मिनिमम बैलेंस बरकरार न रखने पर हर वित्त वर्ष के आखिरी दिन अकाउंट से 100 रुपये की मेंटीनेंस फीस काट ली जाएगी। फीस काटने के बाद अगर खाते में बैलेंस निल हो गया तो यह अपने आप बंद हो जाएगा। डाकघर बचत खाते से मिनिमम 50 रुपये की भी निकासी की जा सकती है। खाते को बंद करने के समय, ब्याज का भुगतान उस पूर्ववर्ती महीने तक किया जाएगा, जिसमें खाता बंद किया गया।

​साइलेंट न होने पाए अकाउंट

डाकघर के बचत खाते के जरिए बैंकिंग सर्विसेज का लाभ लेने के लिए याद रखें कि खाता ‘साइलेंट’ (Silent) नहीं होना चाहिए। डाकघर के बचत खाते से अगर लगातार तीन वित्त वर्षों तक कोई ट्रांजेक्शन नहीं हुआ, यानी न पैसा जमा किया गया और न ही निकला गया तो खाता साइलेंट या डोरमेंट हो जाएगा। इसके बाद हो सकता है कि आप डाकघर बचत खाते से जुड़ी सर्विसेज का लाभ न ले सकें। डोरमेंट अकाउंट को रिवाइव करने के लिए आपको अपने खाते की मौजूदगी वाले डाकघर में ऐप्लीकेशन और नए केवाईसी डॉक्युमेंट देने होंगे। साथ ही डाकघर बचत खाते की पासबुक भी लगानी होगी।

​कौन खोल सकता है डाकघर बचत खाता

डाकघर में बचत खाते (Post Office Savings Account) को कोई भी व्यक्ति सिंगल या जॉइंट में खुलवा सकता है। 10 साल से अधिक उम्र का नाबालिग अपने नाम पर खाता खुलवा सकता है, इसके अलावा अभिभावक भी नाबालिगों का खाता खुलवा सकते हैं। मानसिक रूप से कमजोर व्यक्ति की ओर से उसका अभिभावक खाता खुलवा सकता है। एक व्यक्ति एक ही सिंगल अकाउंट खोल सकता है।

जॉइंट खाते के मामले में ये बात जरूर रखें याद

जॉइंट में खाता खुलवाया है और अकाउंटहोल्डर्स में से एक की मृत्यु हो जाती है तो जीवित अकाउंटहोल्डर उस जॉइंट खाते का अकेला धारक (Holder) होगा। यदि जीवित अकाउंटहोल्डर का डाकघर में पहले से ही सिंगल खाता (Single Savings Account) है तो जॉइंट खाता बंद करना होगा। डाकघर में बचत खाता खोलने के टाइम पर नॉमिनेशन करना अनिवार्य है।

डाक घर बचत खाते पर उपलब्ध अतिरिक्त सुविधाएं

चेक बुक
एटीएम कार्ड
ईबैंकिंग/मोबाइल बैंकिंग
आधार सीडिंग
अटल पेंशन योजना (APY)
प्रधानमंत्री सुरक्षा बीमा योजना (PMSBY)
प्रधानमंत्री जीवन ज्योति बीमा योजना (PMJJBY)

Post a Comment

0 Comments