---Third party advertisement---

बिहार में इस साल 2408 करोड़ की लागत से बनी 261 किमी लंबी सड़के, देखिये आपके ज़िला को कितना मिला फ़ायदा



राज्य में इस साल करीब 2408 करोड़ रुपये की लागत से 261 किमी की लंबाई में चार एनएच का निर्माण पूरा हो जाने से उन पर आवागमन शुरू हो गया. इनमें फोरलेन पटना-बख्तियारपुर, दो लेन मुजफ्फरपुर से सोनबरसा, दो लेन बिहारशरीफ-बरबीघा-मोकामा और दो लेन छपरा-रेवाघाट-मुजफ्फरपुर एनएच शामिल हैं.

इनमें से पटना-बख्तियारपुर और मुजफ्फरपुर से सोनबरसा सड़कों का निर्माण 2010-2011 में शुरू हुआ था. ऐसे में उन्हें बनने में करीब 10 साल लगे. वहीं बिहारशरीफ-बरबीघा-मोकामा और छपरा-रेवाघाट-मुजफ्फरपुर एनएच का निर्माण 2015-16 में शुरू हुआ था.

इसे बनने में करीब छह साल लगे. इस तरह चारों परियोजनाओं के निर्माण में विलंब हुआ है. इन चारों सड़कों के बेहतर बन जाने से पटना और इसके आसपास, सहित मुजफ्फरपुर, बिहारशरीफ और छपरा शहर में जाम की समस्या कम हुई है.

सूत्रों के अनुसार पटना से बख्तियारपुर एनएच-30 चार लेन सड़क बनने से एक बार फिर बख्तियारपुर होकर रांची, जमशेदपुर सहित झारखंड के अन्य शहरों में लोग आ-जा सकते हैं. सड़क की कुल लंबाई 50 करीब किमी है. इसके निर्माण पर 574 करोड़ खर्च हुए हैं. बिहारशरीफ-बरबीघा-मोकामा एनएच 82 की यह सड़क करीब 54 किमी की लंबाई में दो लेन की है.

84 किमी लंबाई में सड़क बनाने में 512 करोड़ खर्च

मुजफ्फरपुर-सोनबरसा एनएच-77 सड़क दो लेन की लंबाई में है. करीब 84 किमी की लंबाई में इस सड़क को बनाने में 512 करोड़ का खर्च आया है. इसके बन जाने से मुजफ्फरपुर और सीतामढ़ी के साथ ही दूसरे जिले के लोगों को इस ओर आने-जाने में सुविधा हो रही है.

छपरा-रेवाघाट-मुजफ्फरपुर एनएच को करीब 73 किमी की लंबाई में बनाने में करीब 427 करोड़ रुपये खर्च हुये हैं. इसका फायदा छपरा आने-जाने वालों को होगा. इन्हे भी जरूर पढ़ें

Post a Comment

0 Comments