---Third party advertisement---

बिहार का यह स्टेशन पूरे राज्य में सबसे ज्यादा पैसा कमा कर रेलवे को देता है, देखिये आपके शहर का स्टेशन किस स्थान पर है!



पूर्व मध्य रेल के अधिक राजस्व वाले टॉप 30 स्टेशनों की सूची में सहरसा फिर से 13वें स्थान पर काबिज है। टॉप यानी पहले स्थान पर फिर से पटना जंक्शन काबिज है। दूसरे स्थान पर फिर से दानापुर, तीसरे पर मुजफ्फरपुर, चौथे पर दीनदयाल उपाध्याय और पांचवें पर दरभंगा जंक्शन है।

पिछली सूची में 12 वें स्थान पर रहने वाला गया स्टेशन इस बार छह नंबर छलांग लगाते छठे स्थान पर पहुंच गया है। समस्तीपुर जंक्शन की रैंकिंग में इस बार सुधार हुआ है। नौ से घटकर सातवें स्थान पर पहुंच गया है। वहीं धनबाद एक नंबर आगे आठवें स्थान पर पहुंच गया है। पटना जिले का राजेंद्रनगर टर्मिनल एक पायदान नीचे लुढ़क नौवें स्थान पर पहुंच गया है।

पटना का ही सातवें स्थान पर रहने वाला पाटलिपुत्र स्टेशन इस बार 14 वें स्थान पर है। ग्यारह पर रहने वाला बक्सर इस बार दसवें और आरा ग्यारहवें स्थान पर है। सहरसा से नीचे रहने वाला बरौनी एक पायदान आगे 12 वें नंबर पर पहुंच गया है। टॉप 30 के सबसे निचले पायदान पर अनुग्रह नारायण रोड स्टेशन का नाम है।

बता दें कि आरक्षित और अनारक्षित टिकट बिक्री से एक अप्रैल से 30 सितंबर 2021 तक पांच माह में मिले राजस्व को आधार बनाते टॉप 30 स्टेशनों की सूची रेलवे ने जारी की है। राजेश कुमार सिंह नामक व्यक्ति के द्वारा मांगे गए आरटीआई के जवाब में पूर्व मध्य रेल मुख्यालय के डिप्टी सीसीएम यात्री सुविधा ने अधिक राजस्व वाले टॉप 30 स्टेशनों की सूची उपलब्ध कराई है।

सहरसा से नीचे हाजीपुर, कियूल, मोतिहारी व खगड़िया स्टेशन

तेरहवें नंबर पर काबिज सहरसा स्टेशन से नीचे पाटलिपुत्र, हाजीपुर, कोडरमा, डेहरी ऑन सोन, कियूल, बापूधाम मोतिहारी और सासाराम स्टेशन हैं। बीसवें स्थान वाले सासाराम से नीचे मधुबनी, खगड़िया, सोनपुर, बेतिया, जयनगर, बेगूसराय, रक्सौल, बगहा और सकरी स्टेशन हैं।

चार नंबर ऊपर पहुंचा बेगूसराय स्टेशन

एक अप्रैल 2020 से 31 मार्च 2021 तक साल भर के लिए जारी पूर्व मध्य रेल के टॉप 30 स्टेशनों की सूची में बेगूसराय सबसे नीचे था। इस बार एक अप्रैल से 30 सितंबर 2021 तक जारी हुई पूर्व मध्य रेल के टॉप स्टेशनों की सूची में बेगूसराय ने चार पायदान छलांग लगाते 26 वें स्थान पर जगह बनाई है।

ट्रेन बढ़ी तो पांच माह में ही 25 करोड़ से अधिक राजस्व

ट्रेनों की संख्या बढ़ी और पिक सीजन होने के कारण सहरसा स्टेशन का टिकट बिक्री से रेल राजस्व पांच माह में ही 25 करोड़ 18 लाख 27 हजार 445 रुपए पर पहुंच गया। आरक्षित टिकटों की बिक्री से 24 करोड़ 29 लाख 79 हजार 690 रुपए और अनारक्षित टिकटों से 88 लाख 47 हजार 755 रुपए मिले।

स्टेशनों को मिले राजस्व पर एक नजर

सबसे अधिक राजस्व हासिल करने की सूची में टॉप पर जंक्शन पटना का एक अप्रैल से 30 सितंबर 2021 तक प्राप्त राजस्व 202 करोड़ 45 लाख 52 हजार 962 रुपए रहा। टॉप 30 में सबसे नीचे स्थान वाले अनुग्रह नारायण रोड स्टेशन से सात करोड़ 24 लाख 4 हजार 237 रुपए राजस्व मिले। दानापुर जंक्शन से 108 करोड़ 75 लाख 65 हजार 200, मुजफ्फरपुर से 84 करोड़ 99 लाख 78 हजार 368, दीनदयाल उपाध्याय से 68 करोड़ 26 लाख 19 हजार 40 और दरभंगा से 57 करोड़ 78 लाख 4 हजार 782 रुपए राजस्व मिले।

गया से 56 करोड़ 22 लाख 48 हजार 738, समस्तीपुर से 45 करोड़ 39 लाख 78 हजार 948, धनबाद से 44 करोड़ 89 लाख 95 हजार 390, राजेंद्रनगर टर्मिनल से 43 करोड़ 45 लाख 78 हजार 112, बक्सर से 33 करोड़ 23 लाख 91 हजार 968, आरा से 28 करोड़ 89 लाख 60 हजार 441, बरौनी से 26 करोड़ 85 लाख एक हजार 155, पाटलिपुत्र से 23 करोड़ 41 लाख 90 हजार 744, हाजीपुर से 20 करोड़ 47 लाख 67 हजार 656, कोडरमा से 14 करोड़ 50 लाख 703, डेहरी ऑन सोन से 13 करोड़ 97 लाख 27 हजार 507, कियूल से 13 करोड़ 68 लाख 15 हजार 142, बापूधाम मोतिहारी से 12 करोड़ 45 लाख 93 हजार 768, सासाराम से 11 करोड़ 1 लाख 29 हजार 320, मधुबनी से 10 करोड़ 68 लाख 21 हजार 444 रुपए राजस्व मिले।

कौन से स्टेशन कितने नंबर पर

1. पटना

2. दानापुर

3. मुजफ्फरपुर

4. दीनदयाल उपाध्याय

5. दरभंगा

6. गया

7. समस्तीपुर

8. धनबाद

9. राजेंद्रनगर टर्मिनल

10. बक्सर

11. आरा

12. बरौनी

13. सहरसा

14. पाटलिपुत्र

15. हाजीपुर

16. कोडरमा

17. डेहरी ऑन सोन

18. कियूल

19. बापूधाम मोतिहारी

20. सासाराम

21. मधुबनी

22. खगड़िया

23. सोनपुर

24. बेतिया

25. जयनगर

26. बेगूसराय

27. रक्सौल

28. बगहा

29. सकरी

30. अनुग्रह नारायण रोड इन्हे भी जरूर पढ़ें

Post a Comment

0 Comments