---Third party advertisement---

बिहार के इस जिले में NH पर बनेगा 850 मीटर लंबा शानदार फ्लाईओवर, जानिए


बिहार सरकार बिहार में इन दिनों परिवहन के विकास पर विशेष ध्यान दे रही है। बिहार के अलग-अलग जिलों को हाईटेक बनाने के लिए नए-नए फ्लाईओवर, एलिवेटेड रोड और पुलों का निर्माण किया जा रहा है। इसी कड़ी में बिहार सरकार ने बिहार के 1 जिले को बड़ी सौगात दी है। जानकारी के अनुसार बिहार के मुजफ्फरपुर जिले में गोबरसही चौक से मझौलिया चौक तक NH 28 से नए NH 122 पर 850 मीटर लंबा फ्लाइओवर का निर्माण होगा। इस फ्लाइओवर के निर्माण पर 95 करोड़ रुपये खर्च होंगे। जानकारी के अनुसार, एनएचएआई की ओर से तैयार डीपीआर में सुरक्षा मानकों के आंशिक सुधार का सुझाव कंसल्टेंट एजेंसी ने दिया है। इसके लिए डीपीआर में गोबरसही एवं मझौलिया चौराहों के ठीक नीचे सुरक्षा मानकों को और स्पष्ट व सुनिश्चित करने का सुझाव दिया है। डीपीआर में संशोधन कर टेंडर की प्रक्रिया होगी। यह फ्लाइओवर ऐसी जगह बनना है, जहां एक ही सड़क पर एनएच 28 (नया 122) एवं एनएच 77(नया 22) के वाहनों का परिचालन होता है।

बता दे की जहां एक और इस फ्लाईओवर के निर्माण के बाद बिहार के अलग-अलग जिलों से मुजफ्फरपुर आने जाने वाले वाहनों को सुविधा मिलेगी वहीं मुजफ्फरपुर में लगने वाले जाम की समस्या से भी लोगों को राहत मिलने की संभावना जताई जा रही है। इसके साथ साथ जिले के भगवानपुर चौक और चांदनी चौक के बीच बीबीगंज 20 मीटर चौड़ा अंडरपास वाला फ्लाइओवर बनेगा। इसके लिए एनएच के बीचोबीच एकल पाया पर 20 मीटर चौड़ा फ्लाइओवर बनाया जाएगा। इससे फ्लाइओवर के नीचे भी वाहनों का परिचालन सुगमता से हो सकेगा। सर्किट हाउस और डुमरी रोड की ओर से आने वाले वाहन फ्लाइओवर के नीचे-नीचे अपने रस्ते की ओर बढ़ सकेंगे।

इसके साथ साथ मुजफ्फरपुर भगवानपुर गोलंबर को बड़ा किया जाएगा और गोलंबर से सदर थाना होते हुए गोबरसही चौक तक सर्विस लेन को खाली कराया जाएगा। भगवानपुर चौक को जाम से मुक्त कराने के लिए तैयार डीपीआर में फुट ओवरब्रिज बनाने, ऑटो स्टैंड को चौराहे से हटाकर आईजी कॉलोनी की ओर मौजूदा फ्लाइओवर के नीचे ले जाने का प्रावधान रखा है। वही इन परियोजना के लिए कंसल्टेंट एजेंसी ने गत 15 नवंबर को जारी पत्र में डीपीआर में चार बिन्दुओं पर सुरक्षा मानकों को सुनिश्चित करने का सुझाव देते हुए संशोधित फाइल मांगी है। एजेंसी ने फ्लाइओवर का होरिजेंटल और वर्टिकल डिजाइन स्पष्ट करने का सुझाव दिया है, जिसके बाद यहाँ नीचे से गुजरने वाले वाहन चारों दिशाओं में सुरक्षित और सुगमता से जा सकेगें। इन्हे भी जरूर पढ़ें

Post a Comment

0 Comments