---Third party advertisement---

Breaking - भारतीय किसान संघ-क्रांतिकारी ने ली पीएम मोदी का रास्ता रोकने की जिम्मेदारी




 पंजाब के फिरोजपुर जिले में बुधवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सुरक्षा में बड़ी चूक हुई, जहां प्रदर्शनकारी किसानों ने उनका रास्ता रोक लिया।

इस वजह से करीब 15 मिनट तक प्रधानमंत्री का काफिला फ्लाईओवर पर खड़ा रहा। इस वजह से पीएम की फिरोजपुर में होने वाली रैली भी रद्द हो गई। इस घटना की जिम्मेदारी अब भारतीय किसान संघ (क्रांतिकारी) के सदस्यों ने ली है।

घटना की जिम्मेदारी लेते हुए बीकेयू (क्रांतिकारी) के महासचिव बलदेव जीरा ने कहा कि किसानों ने 'अभिमानी मोदी' को सबक सिखाया है। पीएम ने किसानों को सड़क पर खड़ा किया था, आज उन्होंने पीएम को ही सड़क पर इंतजार करवाया। जानकारों के मुताबिक बीकेयू क्रांतिकारी को अति वामपंथी किसान संगठन माना जाता है। वैसे तो वो संयुक्त किसान मोर्चा का हिस्सा हैं, लेकिन उन्होंने राजनीति में जाने वाले फैसले का विरोध किया था। माओवादी संगठनों से संपर्क रखने के आरोप में इसके अध्यक्ष जेल भी जा चुके हैं।

वहीं संगठन के प्रेस सचिव अवतार महमा ने बताया कि 31 दिसंबर को बरनाला में सात किसान यूनियनों की बैठक हुई थी, जिसमें पीएम के दौरे के दौरान बड़े पैमाने पर विरोध प्रदर्शन करने का फैसला लिया गया था। बीकेयू क्रांतिकारी के कार्यकर्ता पियारेना गांव में विरोध प्रदर्शन कर रहे थे। जिस वजह से उन्होंने सुबह साढ़े दस बजे से ही घेराबंदी कर ली थी।

एसएसपी हुए सस्पेंड
वहीं पंजाब के फिरोजपुर में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सुरक्षा में हुई चूक के बाद पंजाब सरकार ने बड़ी कार्रवाई की है, जहां एसएसपी हरमन हंस को सस्पेंड कर दिया गया। वैसे पंजाब सरकार की ये कार्रवाई हैरान कर देने वाली है, क्योंकि सीएम ने इसे सुरक्षा में चूक का मामला मानने से इनकार कर दिया था। वहीं दूसरी ओर गृह मंत्रालय ने भी राज्य सरकार से रिपोर्ट तलब की है, अगर इसमें अन्य अधिकारियों की लापरवाही सामने आई तो उन पर भी कार्रवाई होगी।

Post a Comment

0 Comments