---Third party advertisement---

बिहार मे इस सड़क निर्माण पूरा हो जाने से 2 घंटे का सफर 20 मिनट मे होगी पूरी




बिहार में पिछले कुछ वर्षों से सड़क निर्माण में काफी तेजी आई है. नीतीश सरकार के सत्‍ता में आने के बाद ग्रामीण सड़कों को दुरुस्‍त किया गया था. इसके बाद लिंक रोड पर भी काफी ध्‍यान दिया गया था. अब सरकार का पूरा ध्‍यान ज्‍यादा लागत वाली बड़ी सड़क निर्माण परियोजनाओं पर है. इसके तहत एक्‍सप्रेसवे के निर्माण को हरी झंडी देने के साथ ही राजधानी पटना को सड़क मार्ग से जोड़ने की कोशिशें तेज कर दी गई हैं. शहर को आंतरिक और बाहरी दोनों तरीके से सड़क मार्ग से जोड़ने की कवयाद चल रही है. इसी प्रयास का नतीजा लोकनायक गंगा पथ है. इसके निर्माण से पटना मेडिकल कॉलेज एवं अस्‍पताल (PMCH) से पटना AIIMS जाना काफी सुगम हो जाएगा. पीएमसीएच से पटना एम्‍स की दूरी 20 किलोमीटर है. हैवी ट्रैफिक ऐरिया से होकर गुजरना पड़ता है. फिलहाल इस दूरी को तय करने में 90 से 120 मिनट लग जाते हैं. गंगा पथ के आवागमन के लिए खुलने के बाद यह दूरी महज 20 मिनट में तय की जा सकेगी.

पटना का मरीन ड्राइव यानी लोकनायक गंगा पथ मरीजों के लिए वरदान साबित होगा. इसके निर्माण के बाद पटना एम्स से पीएमसीएच की दूरी सिमट जाएगी. पीएमसीएच से पटना एम्स जाने में अभी डेट से 2 घंटे लगते हैं. इन दोनों अस्पतालों के बीच की दूरी लगभग 20 किलोमीटर है. लोकनायक गंगा पथ का उद्घाटन होते ही 20 किलोमीटर की दूरी 20 मिनट में तय की जा सकेगी. एम्स से दीघा एलिवेटेड रोड और गंगा पथ होते हुए सिर्फ 20 मिनट में मरीज पीएमसीएच पहुंच सकेंगे. पीएमसीएच से पटना एम्‍स की दूरी भी इतने ही समय में तय की जा सकेगी. आपको बता दें कि दीघा से पीएमसीएच तक लोकनायक गंगा पथ का 8 किलोमीटर का लेन बनकर तैयार हो गया है. इसको शहर से भी कनेक्ट कर दिया गया है.

पटना शहर में प्रवेश के लिए 4 नए रास्‍ते

इस रूट से शहर में प्रवेश करने के लिए 4 रास्ते बनाए गए हैं. साथ ही अटल पथ का हिस्सा भी इसमें जोड़ दिया गया है. दीघा सेतु से सीधे इन दोनों हाइवे पर आने वाला रास्ता भी तैयार है. इन महत्वपूर्ण परियोजनाओं के उद्घाटन का इंतजार है. गंगा पथ को सिर्फ अटल पथ से ही नहीं जोड़ा गया है, बल्कि इसके दीघा एलिवेटेड रोड से जुड़ जाने के कारण पीएमसीएच और पटना एम्स की दूरी भी सिमट गई है. इन दोनों रास्‍तों के जुड़ जाने से मरीजों को पटना एम्स से पीएमसीएच या फिर पीएमसीएच से पटना एम्स में शिफ्ट करने में सिर्फ 20 मिनट लगेंगे.

डेढ़ से 2 घंटे का समय

फिलहाल पटना एम्स से पीएमसीएच पहुंचने के लिए फुलवारी शरीफ, अनीसाबाद होते हुए अशोक राजपथ आना होता है और उसके बाद पीएमसीएच पहुंचते हैं. इसमें करीब 1.30 से 2 घंटे लग जाते हैं. कभी-कभी इमरजेंसी मरीजों को बेड नहीं मिलने की स्थिति में एक से दूसरे अस्पताल में शिफ्ट किया जाता है, ताकि जल्द से जल्द उनकी जान बचाई जा सके. ऐसे में भविष्‍य में गंगा पथ उन मरीजों के लिए वरदान साबित हो सकता है.

Post a Comment

0 Comments