---Third party advertisement---

बिहार के इन 7 जिलों का सफर हो जाएगा आसान, 24 किलोमीटर लम्बा एलिवेटेड सड़क का होगा निर्माण



पटना से कोइलवर तक करीब 24 किमी लंबाई में एलिवेटेड रोड का निर्माण इस साल बरसात के बार शुरू हो जायेगा. साथ ही इससे 2024 में आवागमन शुरू होने की संभावना है. इस सड़क के डीपीआर को मंजूरी मिल चुकी है और सड़क बनाने के लिए निर्माण एजेंसी का चयन टेंडर के माध्यम से जुलाई में होगा. इस सड़क के निर्माण के लिए केंद्र सरकार ने करीब चार हजार करोड़ रुपये की मंजूरी दी है. इस सड़क के बनने से पटना, भोजपुर, बक्सर, रोहतास, कैमूर, अरवल और औरंगाबाद आने-जाने वालों को सीधा फायदा होगा.

केंद्र सरकार ने दी मंजूरी

सूत्रों के अनुसार पहले दानापुर से बिहटा तक करीब 20 किमी लंबाई में एलिवेटेड सड़क बनाने की योजना थी. बाद में बिहटा और कोइलवर के बीच करीब चार किमी लंबी एलिवेटेड सड़क की मंजूरी केंद्र सरकार ने दी. यह बिहटा एयरपोर्ट के पास का एरिया है. अब नयी सड़क बनने से इस सड़क की कनेक्टिविटी फोरलेन कोइलवर-भोजपुर और भोजपुर-बक्सर सड़क से हो जायेगी. वहीं, सोन नदी पर कोइलवर के सिक्सलेन पुल से होकर आवागमन शुरू हो चुका है.

कोइलवर से बक्सर तक इस साल बनेगी फोरलेन सड़क

कोइलवर-भोजपुर सड़क करीब 44 किमी लंबाई में अक्तूबर 2022 तक और भोजपुर से बक्सर 48 किमी की लंबाई में दिसंबर 2022 तक निर्माण पूरा होने की संभावना है. बक्सर से हैदरिया तक फोरलेन सड़क बनाने के लिए डीपीआर दिसंबर 2022 तक डीपीआर बन जायेगी. इस सड़क को पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे से जोड़ा जायेगा. इस तरह करीब तीन साल में पटना-कोइलवर एलिवेटेड सड़क से होकर सीधा पूर्वांचल एक्सप्रेस होकर दिल्ली तक जाने का बेहतर मार्ग मिल सकेगा. वहीं, इस सड़क से आरा रिंग रोड को भी जोड़ने की योजना है. यह करीब 381 करोड़ की लागत से करीब 21 किमी लंबाई में बनेगा.

Post a Comment

0 Comments