---Third party advertisement---

कुलदीप यादव को बाहर करने पर केएल राहुल ने कह दी ऐसी बात, फैंस को लग सकती है मिर्ची !




टीम इंडिया ने बांग्लादेश के खिलाफ सीरीज के दूसरे टेस्ट मैच में 3 विकेट से जीत दर्ज की. इसी के साथ भारत ने 2 मैचों की सीरीज पर 2-0 से कब्जा जमा लिया. ढाका में खेले गए दूसरे टेस्ट मैच की प्लेइंग-11 को लेकर भी सवाल उठे, क्योंकि चाइनामैन स्पिनर कुलदीप यादव को शुरुआती मुकाबले में अच्छे प्रदर्शन के बावजूद बाहर कर दिया गया था. अब कार्यवाहक कप्तान केएल राहुल ने इस पर बयान दिया है.




कुलदीप यादव ने भारत की चटगांव में खेले गए पहले टेस्ट मैच में 188 रन की जीत में अहम भूमिका निभाई. अगले ही टेस्ट मैच में उनकी जगह पेसर जयदेव उनादकट को शामिल कर लिया गया. दरअसल, टीम मैनेजमेंट अतिरिक्त तेज गेंदबाज रखना चाहता था. कुलदीप को बाहर करने के चलते सुनील गावस्कर सहित कई दिग्गज खिलाड़ियों ने आलोचना की थी.



भारत के कार्यवाहक कप्तान केएल राहुल ने रविवार को स्वीकार किया कि टीम को दूसरी पारी में कुलदीप यादव की कमी खली लेकिन उन्हें इस बाएं हाथ के कलाई के स्पिनर को प्लेइंग-11 से बाहर रखने का किसी तरह का खेद नहीं है. राहुल ने मैच के बाद अपने फैसले का बचाव करते हुए कहा, ‘मुझे अपने फैसले पर खेद नहीं है. यह सही फैसला था. अगर आप विकेट को देखो तो हमारे तेज गेंदबाजों ने भी काफी विकेट हासिल किए और उन्हें पिच से मदद मिल रही थी. विकेट में काफी असमान उछाल था.’






कुलदीप ने 22 महीने बाद शानदार वापसी की थी. उन्होंने पहले टेस्ट मैच में 8 विकेट लेने के अलावा 40 रन की जुझारू पारी भी खेली. कुलदीप को प्लेयर ऑफ द मैच चुना गया था. राहुल ने कहा, ‘यह मुश्किल फैसला था, खासतौर से जब उन्होंने पहले टेस्ट मैच में अच्छा प्रदर्शन किया था. मैच से एक दिन पहले पिच को देखने के बाद हमें लगा कि इससे तेज गेंदबाजों को मदद मिलेगी और इसलिए हमने सर्वश्रेष्ठ और संतुलित टीम उतारने का फैसला किया. हमने वनडे में यहां खेलने के अपने अनुभव के आधार पर यह फैसला किया. हमने देखा कि यहां तेज और स्पिन गेंदबाजों को मदद मिल रही है. यह एक संतुलित टीम की और मुझे लगता है कि हमारा फैसला सही था.’



भारतीय टीम को दूसरी पारी में खासतौर से कुलदीप की कमी खली. बांग्लादेश का स्कोर एक समय चार विकेट पर 70 रन था लेकिन आखिर में वह 231 रन बनाने में सफल रहा. राहुल ने कहा कि अगर टेस्ट मैचों में ‘प्रभाव डालने वाले खिलाड़ी’ को उतारने का नियम होता तो वह दूसरी पारी में कुलदीप को उतारना पसंद करते. आईपीएल में अगले साल से इस तरह का नियम लागू होने वाला है. उन्होंने कहा, ‘अगर आईपीएल की तरह यहां भी प्रभाव डालने वाले खिलाड़ी का नियम लागू होता तो मैं निश्चित तौर पर दूसरी पारी में कुलदीप को उतारना पसंद करता.’hello

Post a Comment

0 Comments