---Third party advertisement---

'अगर टॉप की टीमों के खिलाफ नहीं खेलेंगे...', लिटन ने अश्विन के कोहली-रूट के लेवल वाले बयान पर किया रिएक्ट, किया ये खुलासा

बांग्लादेश के बल्लेबाज लिटन दास ने भारत के दिग्गज स्पिनर रविचंद्रन अश्विन के साथ हुई बातचीत को लेकर अहम खुलासा किया है। लिटन ने बताया कि उन्होंने कोहली-रूट के लेवल वाली बात पर अश्विन से क्या कहा था?

भारतीय स्पिनर रविचंद्रन अश्विन ने हाल ही में कहा था कि बांग्लादेश के खिलाफ दूसरे टेस्ट के दौरान उन्होंने बल्लेबाज लिटन दास के साथ लंबी बात की थी। अश्विन ने बताया कि उन्होंने बांग्लादेशी बल्लेबाज से कहा कि उन्हें लिटन से काफी उम्मीदें थीं। स्पिनर ने कहा, ''मैंने लिटन से कहा कि मैंने तुम्हें टेस्ट डेब्यू के दौरान देखा था। मैंने खेलने की शैली को देखा और सोचा कि यह बांग्लादेश क्रिकेट को आगे ले जाने की राह दिखाएगा। मैंने उनसे कहा कि लेकिन मुझे अब थोड़ी सी निराशा है। मुझे लगा था कि आप विराट कोहली, स्टीव स्मिथ, जो रूट और केन विलियमसन के लेवल तक पहुंचेंगे।''



वहीं, अश्विन के इस बयान पर अब लिटन ने रिएक्ट किया है और एक अहम खुलासा किया है। लिटन ने बताया कि उन्होंने अश्विन की बात पर क्या जवाब था? उन्होंने स्पोर्टस्टार से कहा, ''मीरपुर में दूसरे टेस्ट के दौरान मैंने स्विमिंग पूल में ऐश भाई से बातचीत हुई थी। उन्होंने बताया कि जब उन्होंने मुझे पहली बार 2015 में देखा था तो सोचा कि मैं उन सभी खिलाड़ियों के स्तर तक पहुंच सकता हूं, जिनका जिक्र किया गया है। लेकिन मैंने उनसे कहा कि तब चीजें अलग थीं। मैं युवा था और जितना अधिक आप हाईएस्ट लेवल पर क्रिकेट खेलते हैं, उतना ही आप आगे बढ़ते हैं।"

लिटन ने आगे कहा, ''दूसरी बात यह कि हम (बांग्लादेश टीम) अक्सर विदेश में सीरीज नहीं खेलते हैं। हालांकि, हम न्यूजीलैंड के खिलाफ खेले हैं। हमने ऑस्ट्रेलिया में द्विपक्षीय सीरीज नहीं खेली है। हम अक्सर दक्षिण अफ्रीका या भारत या पाकिस्तान में नहीं खेलते हैं। ऐसे में अगर आप नियमित रूप से टॉप की चार-पांच टीमों के खिलाफ नहीं खेलेंगे तो आप एक क्रिकेटर के रूप में आगे नहीं बढ़ पाएंगे।''

बांग्लादेशी प्लेयर ने कहा, ''मैंने ऐश भाई से यही बात कही थी। भारतीय टीम, ऑस्ट्रेलिया, इंग्लैंड, न्यूजीलैंड के खिलाफ नियमित क्रिकेट खेलती है इसलिए खिलाड़ियों को फायदा होता है। यहां तक कि आईपीएल के दौरान भी भारतीय खिलाड़ियों को इन क्रिकेटरों के साथ खेलने का मौका मिलता है। जब आप नियमित रूप से टॉप-लेवल के क्रिकेटरों के साथ खेलते हैं तो आपको काफी कुछ सीखने को मिलता है।''

Post a Comment

0 Comments